इनफार्मेशन

1 mukhi rudraksha benefits in hindi |  एक मुखी रुद्राक्ष का महत्व,एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने के लाभ, effective

Pawin

1 mukhi rudraksha benefits in hindi
sara Tendulkar biography hindi

Rate this post

1 mukhi rudraksha benefits in hindi, एक मुखी रुद्राक्ष का महत्व,एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने के लाभ, effective, 5 mukhi rudraksha benefits in hindi, 1 mukhi rudraksha price, एक मुखी रुद्राक्ष के फायदे और नुकसान,नेपाली एक मुखी रुद्राक्ष,एक मुखी रुद्राक्ष का मंत्र, एक मुखी रुद्राक्ष नेपाल प्राइस, एक मुखी रुद्राक्ष के नुकसान,एक मुखी रुद्राक्ष की पहचान,

इस लेख में जानेंगे एक मुखी रुद्राक्ष (1 mukhi rudraksha ) के बारे में,  एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से क्या क्या लाभ होती है,  कैसे इसे धारण किया जाता है,  कौन लोग इसको धारण कर सकते हैं,  इसका रखरखाव,  और एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने की संपूर्ण विधि विस्तार में.

एक मुखी रुद्राक्ष (1 Mukhi Rudraksha )

 हमेशा ध्यान दें कि जब भी आप एक मुखी रुद्राक्ष को कोई स्थान में रखेंगे तो वह स्थान साफ-सुथरी होनी चाहिए.  साथी एक मुखी रुद्राक्ष को कभी गंदी हाथों से नहीं होनी चाहिए.  यदि आप एक मुखी रुद्राक्ष धारण करते हैं उस प्रस्ताव यदि आप वॉशरूम जाते हैं तो उससे पहले आपको रुद्राक्ष को उतार लेना चाहिए.

प्राप्त जानकारी के अनुसार यदि कोई आदमी एक मुखी रुद्राक्ष का धारण करता है तो वह आदमी  किसी तरह का कोई पाप या छल कपट जैसे कार्य नहीं करता है.  इसीलिए भी एक मुखी रुद्राक्ष का धारणा तेरा जाता है कि यह पहले से लोगों को गलत राह पर ले जाने से भी रोकता है.  खास करके एक मुखी रुद्राक्ष को विशेष रुप से लाभ के लिए पहना जाता है इसीलिए जब भी एक मुखी रुद्राक्ष धारण करें उससे पहले अनुभवी ज्योतिषी से साला और पूरी विधि विधान के साथ ही धारण करना चाहिए.

आपको बता दें कि एक मुखी रुद्राक्ष (1 mukhi rudraksha ) पर बहुत अधिक पूजा शक्ति होती है इसीलिए शुरुआत में यदि आप इस रुद्राक्ष को धारण करते हैं तो आपको हो सके बेचैनी या चक्कर आना जैसा महसूस भी हो सकता है.

एक मुखी रुद्राक्ष पढ़ने का लाभ (1 mukhi rudraksha benefits in hindi )

  • एक मुखी रुद्राक्ष (1 mukhi rudraksha ) धारण करने से मन को पारदर्शिता देता है साथी आपको भगवान के साथी जोड़ता है.
  • एक मुखी रुद्राक्ष में सहस्त्र चक्र का भी जिक्र किया गया है जो स्वर्ग और पृथ्वी के बीच  की कड़ी  का एक  प्रतीक होता है.
  • एक  मुखी रूद्राक्षा धारण करने वाले लोगों का इच्छा पूरा होती है.
  •  एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले लोगों की पिछले किए कर्मों को नष्ट कर देता है.
  • यदि कोई व्यक्ति माइग्रेन से ग्रसित है तो एक मुखी रुद्राक्ष उसे जरूर धारण करना चाहिए क्योंकि ऐसे करने से कुछ ही दिनों में माइग्रेन ठीक होने में मदद करता है.
  • एक मुखी रुद्राक्ष चिंता अवसाद और ओसीडी को ठीक करने में भी मदद करता है.
  •  एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से मन की शांति प्राप्ति होती है.
  •  एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से न्यूरोटिक विकारों में मदद करता है.
  • एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से अपनी इंद्रियों पर पूर्ण नियंत्रण रखने में मदद करता है.
  •  एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से एकाग्रता  को बढ़ाने में मदद करता है.
  • यदि कोई व्यक्ति श्वसन रोगों से ग्रसित है तो उसे एक मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए क्योंकि इसे करने से वह दोगे ठीक हो जाता है.
  •  एक मुखी रुद्राक्ष रतौंधी जैसे रोग से छुटकारा मिलने में मदद करता है.
  •   एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से ग्रहों में होने वाली नकारात्मक प्रभाव को दूर करने में मदद करता है.
  • एक मुखी रुद्राक्ष जन्म कुंडली में सूर्य के नकारात्मक प्रभाव को दूर करने  के लिए भी धारण की जाती है.
  • एक मुखी रुद्राक्ष को अपने घर में रखने से पूरे घर में शांति और समृद्धि को पैदा करता है.
  • एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से गुस्सा  और क्रोध  को काबू पाने में मदद करता है.
  •  एक मुखी रुद्राक्ष जीवन में आ रही जटिलताओं को दूर  करने में मदद करता है. 

 1 मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि ( 1 mukhi rudraksha )

  • यदि आप एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहते हैं तो इसके लिए सोमवार का दिन बहुत ही शुभ माना जाता है.
  • एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से पहले रुद्राक्ष को दूध या गंगाजल से शुद्धिकरण कर लेना चाहिए.
  •  एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के लिए सबसे पहले आपको सोमवार सुबह स्नान करके रुद्राक्ष को धारण अति शुभ माना जाता है.
  • एक मुखी रुद्राक्ष को पूर्व दिशा में बैठकर धारण करना चाहिए और साथ ही ओम नमः शिवाय का 108 बार जाप करना चाहिए.
  • प्राप्त जानकारी के अनुसार एक मुखी रुद्राक्ष को सोने या चांदी की माला के साथ पहनना चाहिए या तो इसे फिर काले या लाल धागे के साथ पहनना चाहिए.

 नोट :- एक मुखी रुद्राक्ष (1 mukhi rudraksha ) को धारण करने से पहले यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि  रुद्राक्ष आपके शरीर से सीधे संपर्क में रहें ताकि इसका प्रभाव और को पूर्णतया दिखाई देते रहे.

यह भी पढ़ें

 निष्कर्ष 

इस लेख में हमने जाना एक मुखी रुद्राक्ष (1 mukhi rudraksha ) क्या है,  एक मुखी रुद्राक्ष (1 mukhi rudraksha ) का पहचान,  एक मुखी रुद्राक्ष का लाभ,   1 मुखी रुद्राक्ष धारण करने का विधि के बारे में. आशा करता हूं आप लोगों को यह लेख जरूर पसंद आई हो यदि किसी तरह का कोई सुझाव या साला है तू नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट जरूर करें.

FAQs

Q. 1 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से क्या होता है?

A. एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से आध्यात्मिक मैं उन्नति और एकाग्रता में वृधि होता है.

Q. एक मुखी रुद्राक्ष कितने दिन में असर दिखाता है?

A. एक मुखी रुद्राक्ष पहनने से एक हफ्ता में ही आपको असर दिखना शुरू हो जाएगा.

Q. गले में कौन सा रुद्राक्ष पहनना चाहिए?

A. गले में 5 मुखी रुद्राक्ष धारण  करना शुभ माना जाता है.

Leave a Comment

Welcome to Clickise.com Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes
error: Alert: Content selection is disabled!!
Send this to a friend