इनफार्मेशन

2 Mukhi Rudraksha Benefits in hindi | दो मुखी रुद्राक्ष का महत्व,दो मुखी रुद्राक्ष धारण करने के लाभ, effective

Pawin

2 Mukhi Rudraksha Benefits in hindi
2 Mukhi Rudraksha Benefits in hindi
sara Tendulkar biography hindi

Rate this post

2 Mukhi Rudraksha Benefits in hindi , दो मुखी रुद्राक्ष का महत्व,दो मुखी रुद्राक्ष धारण करने के लाभ, effective, 3 mukhi rudraksha benefits in hindi, 1 mukhi rudraksha benefits in hindi, 2 मुखी रुद्राक्ष की कीमत क्या है, 2 मुखी रुद्राक्ष की पहचान,2 मुखी रुद्राक्ष की फोटो, 5 mukhi rudraksha benefits in hindi, 6 mukhi rudraksha benefits in hindi, 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि,

दो मुखी रुद्राक्ष (2 Mukhi Rudraksha)

2 मुखी रुद्राक्ष को भगवान शिव और माता पार्वती का स्वरूप भी कहा जाता है.  पौराणिक कथा अनुसार जब भगवान ब्रह्मा ने दोनों देवताओं को करीब आने का आशीर्वाद दिया तब भगवान शिव और माता पार्वती एक दूसरे में ही विलीन हो गए थे. इसीलिए भी भगवान शिव और माता पार्वती को अर्धनारीश्वर भी कहा जाता है. ऐसे भी हम लोग रुद्राक्ष को भगवान शिव का अवतार मानते हैं.  रुद्राक्ष को एशियाई मुल्क नहीं पूरे दुनिया में लोग धारण करते हैं. रुद्राक्ष प्रेम संबंधों और वैवाहिक जीवन के लिए  बहुत ही लाभदायक माना जाता है. दो मुखी रुद्राक्ष अर्धनारीश्वर का प्रतिनिधित्व करता है. 

और इसके अलावा दो मुखी रुद्राक्ष का स्वामी चंद्र  ग्रह भी है. यदि आपकी जन्मकुंडली में चंद्रमा कमजोर है. ऐसे में अब 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करते हैं तो यह आपके जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित भी कर सकता है. जिसके कारण आपको बेचैनी या एकाग्रता में कमी कर सकता है आपके जीवन में दुर्भाग्य भी ला सकता है. ऐसे में आपको एक ऐसी ज्योतिष के पास जाना चाहिए और  उनसे परामर्श लेना चाहिए जो आपकी कुंडली को पढ़ सके और आपका ग्रह के बारे में जान सके और उसे शांत  करा सके.

प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 मुखी रुद्राक्ष जीवन में सद्भावना लाता है प्रेमियों और रिश्तेदारों के बीच एक एक दूसरे के बीच समझदारी बढ़ाती है.  2 मुखी रुद्राक्ष को चंद्र और सूर्य का प्रतीक भी माना जाता है.  2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाला व्यक्ति को अपने उद्देश्य के तरफ ले जाता.  साथी अपने जीवन में लक्ष्यों का एहसास भी कराता है.  2 मुखी रुद्राक्ष मन और आत्मा के एकीकरण का दिव्य रूप होता है.  दो मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति को  अंदर से आनंद खुशी और धन प्राप्त होता है. 

दो मुखी रुद्राक्ष का महत्व ( 2 Mukhi Rudraksha Mahatwa )

 साधारणतया  रुद्राक्ष  का ज्योतिष से कोई सीधा संबंध नहीं होता है.  लेकिन भगवान शिव के आशीर्वाद से इसका ज्योतिष चे महत्व बन जाता है.  2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से पाप से मुक्ति मिलती है साथ ही विभिन्न रोग से भी छुटकारा मिलती है.  यदि आप 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहते हैं तो एक बार जानकार ज्योतिष से सलाह अवश्य लें.

 2 मुखी रुद्राक्ष धारण  करने से होने वाले लाभ (2 Mukhi Rudraksha Benefits in hindi )

  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति की दांपत्य जीवन सुखमय रहता है.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने व्यक्ति का अंतर्मन को ठीक रखता है साथ ही सदैव पित्त को भी शांत रखने में मदद करता है.
  • यदि किसी व्यक्ति को अनिद्रा की बीमारी है तो उन्हें 2 मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए इससे यह बीमारी ठीक हो जाती है.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से राहु के दुष्प्रभाव को  रोकने में मदद मिलता है.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से समाज में मान सम्मान मिलने में मदद करता है.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति का सौंदर्य में  निखार लाने में मदद करता है.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से मंदबुद्धि, ह्रदय की समस्या स्वसन और स्वास्थ्य संबंधी जैसी बीमारियों को ठीक करने में भी मदद करता है. 
  • दो मुखी रुद्राक्ष  गर्भवती महिलाओं को धारण जरूर करना चाहिए इससे उन्हें काफी ज्यादा लाभ मिलती है.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति पर भावनात्मक स्थिरता और सुधार.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति के जीवन  में सकारात्मकता प्रदान करने में मदद करता है.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति को आंतरिक आनंद और  रचनात्मकता प्रदान करने में मदद मिलता है.
  •  2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से यौन समस्या को ठीक करने में मदद मिलता है साथ ही जीवन से बेवफाओं को दूर करने में भी मदद मिलता है.
  •  2 मुखी रुद्राक्ष आपकी मांसपेशियों को मजबूती मिलने में मदद करता है.
  • 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से आपकी जीवन से तनाव और पीड़ा दूर करने में मदद मिलता.
  •  2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति की निर्णय लेने की क्षमता में सुधार लाने में मदद करता है.

2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि ( How to Use 2 Mukhi Rudraksha )

2 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के लिए शुभ दिन रविवार को माना जाता है.  यदि आप 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहते हैं तो सर्वप्रथम आपको रविवार की सुबह स्नान और पूजा  आराधना करने के बाद इसका धारण करना चाहिए. धारण करने से पहले रुद्राक्ष को गंगाजल या कच्चे दूध में डाल कर रखना चाहिए. 

इसके बाद रुद्राक्ष मंत्र का जाप करना चाहिए  इसके लिए  ओम हरि नमः का 108 बार जाप करना चाहिए. 2 मुखी रुद्राक्ष की माला को बहुत ही ज्यादा शुभ मानी जाती है इसीलिए यदि आप इसको रेशमिया उनके धागों में पी रोककर माला के साथ चांदी या सोने से भरा हुआ  ही पहनना चाहिए. 2 मुखी रुद्राक्ष को आप ब्रेसलेट के रूप में भी पहन सकते हैं.  इस रुद्राक्ष को आप अपनी पूजा स्थान में भी रख सकते हैं.

 यह भी पढ़ें

निष्कर्ष

 इसमें हमने जाना 2 मुखी रुद्राक्ष  क्या है, 2 मुखी रुद्राक्ष का महत्व, 2 मुखी रुद्राक्ष धारण करने का विधि.आशा करता हूं आप लोगों को या लेकर जरूर पसंद आई हो यदि किसी तरह का कोई सुझाव है साला है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट जरूर करें धन्यवाद.

FAQs

Q. 2 मुखी रुद्राक्ष कैसे पहनना चाहिए?

A. 2 मुखी रुद्राक्ष को आप ब्रेसलेट के रूप में भी पहन सकते हैं.  इस रुद्राक्ष को आप अपनी पूजा स्थान में भी रख सकते हैं.

Q. 2 मुखी रुद्राक्ष किसका प्रतीक है?

A. 2 मुखी रुद्राक्ष माता पार्वती और भगवान महादेव का प्रतीक है.

Q. गले में कौन सा रुद्राक्ष पहनना चाहिए?

A. गले में पांच मुखी रुद्राक्ष पहनने से काफी अच्छा माना जाता है.

Leave a Comment

Welcome to Clickise.com Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes
error: Alert: Content selection is disabled!!
Send this to a friend