इनफार्मेशन

9 Mukhi Rudraksha | Effective 9 मुखी रुद्राक्ष धारण करने के फायदे, पहनने की विधि, कीमत, कैसे खरीदें, कैसे कैसे पहचाने,

Pawin

Updated On.

9 Mukhi Rudraksha

Rate this post

9 Mukhi Rudraksha, 9 mukhi rudraksha benefits in hindi, 9 mukhi rudraksha ke fayde, 9 mukhi rudraksha benefits, original 9 mukhi rudraksha price, 9 mukhi rudraksha mala, 9 mukhi rudraksha side effects, 9 mukhi rudraksha original, 9 mukhi rudraksha isha, 9 mukhi rudraksha nepal, 9 mukhi rudraksha mantra,

9 Mukhi Rudraksha

जो मुखी रुद्राक्ष माता शक्ति का पसंदीदा रुद्राक्ष के रूप में माना जाता है. नौ मुखी रुद्राक्ष यानी की नव शक्ति संपन्न मां दुर्गा का प्रतिनिधि करता है. यह रुद्राक्ष पर कपिल मुनि और भैरव देव की कृपा बरसती रहती है. 9 मुखी रुद्राक्ष मुख्य एक सुरक्षा कवच के रूप में धारण की जाती है. जिसकी धारण करने से मात्र सभी प्रकार की बुरी संपत्ति काला जादू और नकारात्मकता से बचाने में मदद करता है. साथ ही 9 मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्तिको शक्ति और ऊर्जा प्रदान करने में मदद करता है. और नौ मुखी रुद्राक्ष काअधिपति ग्रह केतु ग्रह को माना जाता है.

9 मुखी रुद्राक्ष की विवरण

नामरुद्राक्ष
प्रकार9 मुखी रुद्राक्ष
पहचानसतह में 9 धारी
राशि
इष्ट देवतानवदुर्गा 
स्वामी ग्रहकेतु
मंत्रऊं ह्रीं हूं नम:
कीमतClick Here 

9 मुखी रुद्राक्ष का महत्व

यह रुद्राक्ष अन्य रुद्राक्ष के विपरीत जो भगवान विष्णु के कुछ या अन्य रूपों को दर्शाता है लेकिन यह रुद्राक्ष मां दुर्गा की शक्ति का प्रतीक माना जाता है. 9 मुखी रुद्राक्ष बुरे ग्रह से होने वाली किसी भी प्रकार की नकारात्मक प्रभाव को दूर करने के लिए और घरेलू उपचार के रूप में भी काम करता है.

ज्योतिष विज्ञान के अनुसार 9 मुखी रुद्राक्ष का महत्व

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ब्रह्मांड में मौजूद संपूर्ण गृह मनुष्य के जीवन में कुछ ना कुछ प्रभाव जरूर डालती है. क्योंकि ग्रह हमेशाअपने गति के हिसाब से चलाते रहती है ज्योतिष के अनुसार यह गोचर समय-समय पर एक राशि से दूसरे राशि में प्रवेश करते रहता है. कुछ ग्रहों की चाल धीमी होती है और किसी ग्रह की चालतेजी होती है.

यह सभी ग्रह गोचरके साथ नकारात्मक और सकारात्मक रूप में मनुष्य के जीवन की व्यवहार को बदलते रहता है. इसके बारे में केवल एक ज्योतिष विशेषज्ञ ही इस भविष्यवाणी जान सकता है. ज्योतिषी उन ग्रहों की चाल को लेकर भविष्यवाणी करता है और आपको अच्छे और बुरे समय के बारे में सूचित करता है. एस्ट्रो योगी पर विशेषज्ञ ज्योतिषियों का एक पैनल आपके सभी प्रकार के ज्योतिषीय प्रश्नों और ग्रहों की छाल के अनुसार आपकी सहायता कर सकता है.

इसलिए जब भी आप कोई रन या रुद्राक्ष धारण करना चाहते हैं उससे पहले जानकारी विशेष ज्योतिष विशेषज्ञ से परामर्श जरूर ले. वह ज्योतिष आपकी जन्म कुंडली को देखते हुए आपको कौन सी रुद्राक्ष धारण करनी चाहिए इसके बारे में आपको बताएंगे उसी अनुसार से आपको किसी भी रुद्राक्ष का चुनाव करनीचाहिए.

9 mukhi rudraksha benefits

  • जो मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति कोआत्मविश्वास और शक्तिशाली बनाने मेंमदद करता है.
  • नौ मुखी रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति की मां सेडर निकलता है साथ ही उसे स्वतंत्रता पूर्वक जीने काआजादी देने में मदद करता है.
  • 9 मुखी रुद्राक्ष केतु और राहु ग्रहों की दुष्प्रभाव सेरखने में मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष पेड़ से जुड़ी समस्याओं को दूर रखने में मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष व्यक्ति को अंदर से आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष शरीर की दर्द त्वाजा को प्रभावित करने वाली एलर्जी को ठीक करने में भी मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति पर सकारात्मक ऊर्जा को दूर रखने में मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति को बहादुर साहस और धीरज के साथ जोड़ने में मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष मानसिक और तंत्रिका तंत्र के काम काज में सुधार करने में भी मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष व्यक्ति में होने वाली फोबिया चिताओं और मानव भ्रमित को दूर करने में भी मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष सांसारिक मामलों और आध्यात्मिक जीवन के बीच संतुलन बनाए रखने में भी मदद करता है.
  • यह रुद्राक्षव्यक्ति मेंमिर्गी जैसे बीमारी को ठीक करने में मदद करता है.
  • यह रुद्राक्ष धारी केलोगों को शारीरिक कमजोरी को दूर करने में भी मदद करता है. 

9 mukhi rudraksha price

हमेशा याद रखें कि जब भी अपने मुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहेंगे तो अपने खुद के पैसा से खरीद कर धारण करनी चाहिए 9 मुखी रुद्राक्ष आपको अपने लोकल मार्केट या ऑनलाइन मार्केट में आसानी से मिल जाएगी इसका प्राइस ₹500 से लेकर ₹5000 तक के अंदररुद्राक्ष की क्वालिटी के हिसाब से आप ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीद सकते हैं.

9 Mukhi Rudraksha mala

9 मुखी रुद्राक्ष को लाल या काले धागे में पिरो कर धारण करना चाहिए.

असली 9 mukhi rudraksha की पहचान (9 mukhi rudraksha original)

जो मुखी रुद्राक्ष की पहचान रुद्राक्ष की सतह पर जो प्राकृतिक खड़ी रेखाएं होती है. यह रुद्राक्ष ज्यादा तर नेपाल और जावा में अधिक मात्रा में पाया जाता है. 

9 Mukhi Rudraksha को धारण करने की विधि

यदि आप 9 मुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहते हैं तो इससे पहले संबंधित ज्योतिषी विशेष संज्ञा से अपने जन्म कुंडली को एक बार जरूर दिखाना चाहिए तभी जाकर आपको रुद्राक्ष धारण करनी चाहिए. ज्योतिष आपकी कुंडली को देखकर आपके लिए कौन सी रुद्राक्ष पहनना चाहिए उसके बारे में आपको सलाह देंगे.

जब भी आप रुद्राक्ष को धारण करेंगे उसके लिए आप रुद्राक्षअपने खुद की पैसे से खरीदना चाहिए नहीं तो यह रुद्राक्ष उतना लबकार नहीं होगा.

9 Mukhi Rudraksha को किस दिन धारण करना चाहिए

यदि आप 9 मुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहते हैं उसके लिए विशेष दिन शनिवार को माना जाता है.  

सबसे पहले आपको एक तांबे के बर्तन मेंरुद्राक्ष को रख देना चाहिए और उसमें गंगाजल का छिड़काव करें फिर आप अपने मंदिर की पूर्व दिशा में बैठकर ओम ही हूं नमः मंत्र की 108 बार जाप करके इसे शुद्ध कर लेना चाहिए. और इसे धारण करें यदि कोईज्योतिष शास्त्र इसके अलावा कोई मंत्र उच्चारण करने के लिए बोलते हैं तो आप उसके अनुसार जरूर काम करें.

9 Mukhi Rudraksha धारण करने से पहले कौन सी मंत्र का उच्चारण करें ?

यदि आप जो मुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहते हैं तो उससे पहले आपको ओम ही हूं नमः मंत्र जप करके रुद्राक्ष को शुद्ध कर लेना चाहिए. 

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष

इस लेख में हमने जाना9 मुखी रुद्राक्ष के बारे में 9 मुखी रुद्राक्ष को कैसे धारण करनी चाहिएक्या फायदा मिलेगाकितना कीमत पड़ेगा इत्यादि के बारे में आशा करता हूं आप लोगों को यह लेख जरूर पसंद आई हो यदि किसी तरह का कोई सुझाव यशाल्लाह है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट जरुर करें धन्यवाद.

FAQs.

Q. धारण करने से पहले कौन सी मंत्र का उच्चारण करें ?

A. ओम ही हूं नमः मंत्र की 108 बार जाप करके इसे शुद्ध कर लेना चाहिए.

Q. 9 मुखी रुद्राक्ष को कैसे धारण करना चाहिए ?

A. – 9 मुखी रुद्राक्ष को लाल या काले धागे में पिरो कर धारण करना चाहिए.

Q. असली 9 मुखी रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें?

A. 9 मुखी रुद्राक्ष की सतह पर सीधा-सीधा लकीर होता है वही इस की पहचान रहता है.

Leave a Comment

Welcome to Clickise.com Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes
error: Alert: Content selection is disabled!!
Exit mobile version
Send this to a friend