राजनीतिकजीवन परिचय

Arvind Kejriwal biography in hindi | अरविंद केजरीवाल जीवन परिचय, आयु, योग्यता, पत्नी, परिवार, Net Worth, 2023

Pawin

Arvind Kejriwal biography in hindi
sara Tendulkar biography hindi

Rate this post

Arvind Kejriwal biography in hindi , अरविंद केजरीवाल जीवन परिचय, आयु, योग्यता, पत्नी, परिवार, Net Worth, 2023, धर्म, पत्नी, जन्म कहां हुआ, विवाद, करियर,जाति, बेटी, पिता, मोबाइल नंबर ,Arvind Kejariwal Biography in Hindi Age, Caste, Education, Daughter, Wife, Family, News, Religion,

इस लेख में हम जानेंगे अरविंद केजरीवाल की जीवनी के बारे में जिसके बारे में आप जानना चाहते हैं. अरविंद केजरीवाल एक राजनेता है और वह वर्तमान में हमारे देश के राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में पदधारी है. अरविंद केजरीवाल ने सत्ता में आने से पहले 2006 में सरकारी भ्रष्टाचार के खिलाफ एक अभियान  के तहत आंदोलन की थी और इस आंदोलन  के लिए केजरीवाल को रेमन मैग्सेसे पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था.

आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल राजनीति में आने से पहले भारतीय राजस्व विभाग में काम किया करते थे. जैसे केजरीवाल को सरकारी भ्रष्टाचार के खिलाफ में शामिल होने के कारण  मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित किया गया उन्होंने अपनी सरकारी सेवा को इस्तीफा देते हुए.  पूर्ण रूप से राजनीतिक में शामिल हो गए और उन्होंने पब्लिक काज रिसर्च फाउंडेशन की स्थापना की.  केजरीवाल ने 2012 में अपना पार्टी शुरुआत की जिसका नाम आम आदमी पार्टी है. 

और 2013 में उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में पदभार ग्रहण भी किया था लेकिन 49 दिन के बाद अपने प्रस्तावित भ्रष्टाचार विरोधी कानून के लिए समर्थन जुटा पाने के कारण असमर्थ जताते हुए उन्होंने इस्तीफा दे दिया था . उसके बाद फिर 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में भागने और आम आदमी पार्टी ने बहुमत जिसके साथ सरकार बनाई और फिर से 14 फरवरी 2015 से वर्तमान तक अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री के रूप में दिल्ली की पदभार संभाल रहे हैं.  आइए जानते हैं विस्तार में अरविंद केजरीवाल  के जीवनी(Arvind Kejriwal biography in hindi) के बारे में.

Table of Contents

अरविंद केजरीवाल कौन है ?(Who is Arvind Kejriwal ?

 अरविंद केजरीवाल एक राजनेता है और वर्तमान में हमारे देश के राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं.

 अरविंद केजरीवाल की जन्म और शुरुआती जीवन. (Arvind Kejriwal Birth and Early life )

अरविंद केजरीवाल की जन्म 16 अगस्त 1968 में भारत के हरियाणा के भिवानी जिले के शिवानी में बनियों के गोविंद राम केजरीवाल और गीता देवी की  कुल 3 संतान में  सबसे बड़े संतान के रूप में अग्रवाल परिवार में अरविंद केजरीवाल का जन्म हुआ था. आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल के पिता पैसे से इलेक्ट्रिकल इंजीनियर थे जिन्होंने  बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी  एक कॉलेज से डिग्री हासिल की थी.  अरविंद केजरीवाल ने  ज्यादातर अपना बचपन गाजियाबाद, सोनीपत, हिसार देते शहर में बिताया है.

उन्होंने अपने प्रारंभिक शिक्षा सोनीपत के होली चाइल्ड स्कूल में थी उसके बाद उन्होंने हाई स्कूल के शिक्षा के कैंपस स्कूल  से की,  और 1985 में उन्होंने आईआईटी जेईई परीक्षा में 563  रैंक (AIR)  लाते हुए  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़कपुर से अपने इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त किए आपको बता दें उन्होंने मेकेनिकल इंजीनियरिंग से अपने डिग्री प्राप्त की. अपने कॉलेज की शिक्षा पूर्ण होने के बाद अरविंद केजरीवाल ने 1989 में टाटा स्टील  जमशेदपुर  नौकरी की. 

उसके बाद उन्होंने 1993 में सिविल सेवा परीक्षा के तैयारी के लिए अपनी नौकरी से छुट्टियां लेते हुए इस्तीफा दे दिया.  उसके बाद अरविंद केजरीवाल कोलकाता चले गए और वहां पर कुछ समय  बिताए और इस वक्त उन्होंने मदर टेरेसा से मुलाकात हुई थी और  मिशनरीज ऑफ चैरिटी उत्तर पूर्व भारत में रामकृष्ण मिशन और नेहरू युवा केंद्र  मैं अपनी इच्छा से काम भी किया. अरविंद केजरीवाल ने सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद 1995 में सहायक आयकर आयुक्त के रूप में भारतीय राजस्व सेवा (IRS) मैं अपनी सेवा देने लगे और उसके बाद उन्होंने 2006 में नई दिल्ली में संयुक्त आयकर आयुक्त के पद से इस्तीफा दे दिया. 

अरविंद केजरीवाल का जीवन परिचय (Arvind Kejriwal biography in hindi)

नाम (Name )अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal ) 
पिताजी का नाम (Father’s Name )गोविंद राम केजरीवाल (Govind Ram kejriwal)
माता जी का  नाम (Mother’s Name )गीता देवी केजरीवाल (Geeta Devi kejriwal )
जन्मतिथि ( Date of birth )16 अगस्त 1978 (16-Aug-1968)
गृहनगर (Home Town )सिवानी हरियाणा भारत
पेशा ( Professional )राजनेता (Politician )
वैवाहिक स्थिति (Marital Status ) विवाहित (Married )
पत्नी का नाम (spouse Name )सुनीता केजरीवाल (Sunita Kejriwal)
शादी की तारीख (Married Date )1995
बच्चे
राजनीतिक दल (Political Party )आम आदमी पार्टी (AAP)
योग्यता (Qualification )आईआईटी  खड़कपुर (BTech)
पुरस्कार (Award )रेमन मैग्सेसे पुरस्कार
वर्तमान पता (Present Address )6, फ्लैग स्टाफ  रोड सिविल लाइंस दिल्ली भारत
पदधारीदिल्ली के सातवें मुख्यमंत्री
राष्ट्रीयता (Nationality )भारतीय (Indian )
धर्म (Religion )हिंदू (Hindu )
जाति (Caste )वैश्य ( बनिया )

अरविंद केजरीवाल के फैमिली (Arvind Kejriwal family )

अरविंद केजरीवाल के पिताजी का नाम गोविंद राम केजरीवाल है और माताजी का नाम गीता देवी है. अरविंद केजरीवाल और वह हिंदू वैश्य (बनिया) अग्रवाल परिवार से आते हैं. अरविंद केजरीवाल अपने परिवार के सबसे बड़े संतान हैं उनके एक भाई भी है जिसका नाम मनोज  केजरीवाल हैं. और बहन का नाम रंजना केजरीवाल है जो एक पैसे से डॉक्टर है.

अरविंद केजरीवाल के शिक्षा (Arvind Kejriwal Education )

अरविंद केजरीवाल ने अपने हाई स्कूल कंप्लीट करने के बाद 1985 में आईआईटी जेईई परीक्षा दी परीक्षा में ऑल इंडिया 563  रैंक प्राप्त किया और उन्होंने भारतीय प्रौद्योगिक संस्थान खड़कपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग (B.Tech) की पढ़ाई की है.

मुख्यमंत्री होने से पहले अरविंद केजरीवाल क्या करते थे ? (What did Arvind Kejriwal do before becoming the Chief Minister?)

अरविंद केजरीवाल राजनीतिक में आने से पहले उन्होंने सिविल सेवा  परीक्षा की तैयारी की और बाद में सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद 1995  में सहायक आयकर आयुक्त के रूप में भारतीय राजस्व सेवा(IRS) मैं कार्यरत  थे. फरवरी 2006 में राजनीतिक में कदम रखे और नई दिल्ली में संयुक्त आयकर आयुक्त के पद से इस्तीफा दे दिया.

 अरविंद केजरीवाल की पत्नी और बच्चे कौन है ? (Who is Arvind Kejriwal’s wife and children? )

अरविंद केजरीवाल ने सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद 1995 में सहायक आयकर आयुक्त के रूप में भारतीय राजस्व सेवा  पद में नियुक्त किए गए और उसी साल 1995 में ही उन्होंने सुनीता केजरीवाल से शादी की उनके दो बच्चे हैं. एक बेटा और एक बेटी है.  बेटा का नाम पुलकित केजरीवाल और बेटी का नाम हर्षिता केजरीवाल है. 

अरविंद केजरीवाल की करियर (Arvind Kejriwal Career )

अरविंद केजरीवाल ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा सोनीपत के होली चाइल्ड स्कूल से पूरा की और उच्च शिक्षा के कैंपस स्कूल हिसार से की और उसके बाद उन्होंने 1985 में आईआईटी जेईई परीक्षा में 563 ऑल इंडिया रैंक लाने के बाद भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर से  मेकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक किया.  अपनी पढ़ाई कंप्लीट होने के बाद उन्होंने 1989 में टाटा स्टील  जमशेदपुर में नौकरी की. 

उसके बाद उन्होंने  सिविल सेवा की परीक्षा के तैयारी के लिए टाटा कंपनी से इस्तीफा दे दिया.  और कोलकाता चले गए और वहां कुछ दिन बिताने के बाद मदर टेरेसा से मुलाकात की और वहां के एक नेहरू युवा केंद्र में सोचा काम की. अरविंद केजरीवाल ने 1995 में सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण किया और भारतीय राजस्व सेवा में सहायक आयकर आयुक्त के रूप में पदभार संभाला.  और 2006 में राजनीतिक में आने के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

केजरीवाल किसके लिए जाने जाते हैं ? (What is Kejriwal known for?)

अरविंद केजरीवाल भारत भ्रष्टाचार के खिलाफ जाने जाते हैं.  

अरविंद केजरीवाल के राजनीतिक करियर (Political career of Arvind Kejriwal )

अरविंद केजरीवाल ऐसे तो राजनीतिक में मैं ज्यादा रूचि तो नहीं था लेकिन जब सिविल  सेवा की परीक्षा होती न करने के बाद उन्होंने जब अफसर के रूप में कार्य करना शुरू किया तो उन्हें अक्सर भ्रष्टाचार जैसी  समस्या का सामना करना पड़ा था जिसके कारण उन्होंने अपने नौकरी से भी इस्तीफा दे दिया और उन्होंने अन्ना हजारे के साथ में मिलकर जन लोकपाल आंदोलन में सक्रियता दिखाई. लेकिन इस जनलोकपाल आंदोलन से खास कुछ सफलता हासिल नहीं मिली. 

अन्ना हजारे के हिसाब से राजनीतिक एक  कीचड़ है जिसमें जो लोग उतरते हैं सब गंदे हो जाते हैं.  जबकि अरविंद केजरीवाल  का सोच कुछ अलग था उनका कहना है कि उसी किचन को साफ करना हमारा और देशवासियों का काम है . इसीलिए उन्होंने अपने राजनीतिक पार्टी का लोगों भी झाड़ू में रखा है.  केजरीवाल ने जन लोकपाल बिल के मुद्दे से राजनीतिक में अपना कदम रखा.

आम आदमी पार्टी की स्थापना (Establishment of Aam Aadmi Party )

अरविंद केजरीवाल ने अपने सरकारी ऑफिसर पद में रहते हुए सरकारी कार्यालय और डिपार्टमेंट में होने वाले भ्रष्टाचार को अच्छी तरह से समझ गए थे.  जो केजरीवाल को बिल्कुल भी पसंद नहीं था और उन्होंने ठान लिया कि  अपने देश से भी भ्रष्टाचार जैसे गंदगी को साफ करना होगा.  इसके बाद इन्होंने 2006 में अपने पद से इस्तीफा देते हुए वह लगातार समाज के  आम जनता के मुद्दों से जुड़े समस्या के समाधान के रास्ते ढूंढने लगे.

और पूर्ण रूप से सामाजिक सेवाओं के लिए समर्पित कर दिए. इस दौरान उन्होंने 2011 में जन लोकपाल विधेयक पारित करने के लिए दिल्ली के रामलीला मैदान में इंडिया अगेंस्ट करप्शन (IAC) आंदोलन का 1 मंथ करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के साथ शामिल हो गए. लेकिन भारतीय जनता पार्टी कांग्रेश लगाए तान्या दल की राजनीतिक रणनीति के कारण आंदोलन विफल हो गया.आपको बता दें कि जन लोकपाल बिल बनाने वाली टीम के मुख्य सदस्य अरविंद केजरीवाल ही थे.  इस टीम में भारत में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के लिए राजनीतिक पार्टी बनाने का फैसला किया गया. 

लेकिन अरविंद केजरीवाल की इस फैसले से अन्ना हजारे,  किरण बेदी और अन्य टीम के सदस्य अरविंद केजरीवाल की राजनीतिक में प्रवेश करने के फैसले  के खिलाफ है.  फिर भी अंत में अरविंद केजरीवाल ने 2012 में आम आदमी पार्टी की नाम से अपना राजनीतिक पार्टी का स्थापना किया.  और 2013 में होने वाली दिल्ली विधानसभा चुनाव में चुनाव भी लड़े जिसमें उन्होंने शीला दीक्षित को दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र से 25000 वोटों से हराया था. और 28 दिसंबर 2013 को दिल्ली के मुख्यमंत्री बन गए थे.

अरविंद केजरीवाल की दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने तक का सफर (Arvind Kejriwal’s journey till becoming the Chief Minister of Delhi)

2012 में आम आदमी पार्टी की स्थापना करने के बाद केजरीवाल ने 2013 में दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी की तरफ से प्रचार प्रसार शुरू किया और इन्होंने 2013 में दिल्ली की  विधानसभा चुनाव में कुल 70 सीटों के साथ चुनाव लड़ा और इसमें 28 सीटों पर जीत दर्ज की और केजरीवाल ने शीला दीक्षित को 25000 वोटों से हराया. 

इसके बाद इन्होंने कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर 28 दिसंबर 2013 को दिल्ली में सरकार बनाया और उन्होंने मुख्यमंत्री पद के लिए शपथ ली.  लेकिन 49 दिनों के बाद ही उन्होंने अपनी मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.  लेकिन इस अवधि में इन्होंने दिल्ली वासियों के लिए बहुत बड़ी तूफानी जिनमें उन्होंने 50% बिजली बिल की दरों में कटौती करने की घोषणा की थी.

मार्च 2014 में अरविंद केजरीवाल ने फिर से लोकसभा चुनाव सीट में खड़े होने के लिए घोषणा की और 2014 की लोकसभा चुनाव सीट के लिए अरविंद केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी के अगेंस्ट पर वाराणसी से खड़े हुए लेकिन अरविंद केजरीवाल लगभग 370000 वोटों से हार गए.

 2015 में अरविंद केजरीवाल कितने विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पार्टी को खड़ा किया और इस बार आम आदमी पार्टी में कुल 70 सीट में 67 सीटों पर अपनी जीत हासिल की जिसके कारण दिल्ली की जनता ने खुलकर अरविंद केजरीवाल के पक्ष में वोट दी और  दुबारा से दिल्ली की मुख्यमंत्री बना दिया गया.

इसी तरह 2020 के लोकसभा  की चुनाव में अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने कुल 70 सीट में 62 सीटों पर जीत हासिल करते हुए लगातार तीसरी बार दिल्ली की मुख्यमंत्री बने और अपना पदभार संभाला.

अरविंद केजरीवाल और पंजाब चुनाव 2022 (Arvind Kejriwal’s journey till becoming the Chief Minister of Delhi)

अरविंद केजरीवाल ने अपनी दिल्ली की जीत के बाद और मुख्यमंत्री बनने के बाद  उनकी पार्टी को काफी ज्यादा सपोर्ट और हौसला मिली जिसके कारण उन्होंने पंजाब चुनाव में अपने पार्टी को उतारा और बेहतरीन प्रदर्शन कर एक ऐतिहासिक जीत हासिल करते हुए इन्होंने अपना पार्टी का विस्तार करते हुए पंजाब में अपने पार्टी आम आदमी पार्टी की सरकार बनाई.  और पंजाब में केजरीवाल ने मुख्यमंत्री के रूप में भगवंत मान को उम्मीदवार बनाया था और जीत हासिल करने के बाद पंजाब के नए मुख्यमंत्री के रूप में आप पार्टी से भगवंत मान जी को पदभार संभालने के लिए शपथ दिलाई. 

आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने आम लोगों की समस्या को समझने और उनके  समस्या के समाधान करने के लिए आम आदमी पार्टी बनाए हैं और इसी के अनुरूप उन्होंने काम भी किया है और लोगों का सपोर्ट भी मिला है इसी कारण आज अरविंद केजरीवाल देश के 2 राज्य में  अपना शासन करने में कामयाब रहे हैं.  और आगे और भी राज्य में अपना शासन करने के लिए कोशिश करते रहेंगे.  आपको पता ही होगा कि पिछले साल गुजरात के  विधानसभा की चुनाव में आम आदमी पार्टी ने जमकर प्रचार प्रसार किया था लेकिन गुजरात में बीजेपी की अच्छी पकड़ होने के कारण अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी  को कुछ खास सफलता नहीं मिल पाई.

अरविंद केजरीवाल के  सम्मान और पुरस्कार (Arvind Kejriwal’s Honors and Awards)

  • 2004 में अशोक फैलो, सिविक अंगेजमेंट सम्मान से नवाजा गया.
  • 2005 में आईआईटी  खड़कपुर की तरफ से सत्येंद्र के दुबे अवार्ड से सम्मानित की गई.  और यह अवार्ड उन्हें सरकारी विवाह में पारदर्शिता लाने की वजह से दिया गया था.
  • 2006 में परिवर्तन जन आंदोलन के नेतृत्व करने की वजह से इन्हें रमल मैग्सेसे अवार्ड से सम्मानित किया गया. और इस अवार्ड में प्राप्त राशि को उन्होंने एक एनजीओ को दान कर दिया था.  
  • 2006 में लोक सेवा में cnn-ibn इंडियन ऑफ द ईयर सम्मान से नवाजा गया.
  • 2009 में विशिष्ट पूर्व छात्र पुरस्कार उत्कृष्ट नेतृत्व के लिए आईआईटी खड़कपुर से सम्मानित किया गया
  •  2013 में अमेरिकी पत्रिका फॉरेन पॉलिसी 2013 के 10 सर्वश्रेष्ठ वैश्विक चिंतन में शामिल होने के कारण सम्मान किया गया.
  • 2014 में विश्व की प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन द्वारा विश्व के प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में अरविंद केजरीवाल को शामिल किया गया और उन्हें सम्मानित किया गया.

अरविंद केजरीवाल के विवाद ( Arvind Kejriwal Controversy )

  • केजरीवाल पर यह आरोप भी लगा था की उन्होंने अपने पार्टी से ऐसे लोगों को टिकट दिया जिनके पास फर्जी डिग्रियां है.
  • दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के अंडर में होने के कारण अफसर अरविंद केजरीवाल और दिल्ली पुलिस के साथ तनाव के माहौल बने रहते हैं.
  • दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ऊपर आरोप लगी है की मंत्री निवास में बिजली बिल ₹100000 से भी ज्यादा का बिजली बिल आने के कारण विपक्षी नेताओं ने लोगों के पैसे से अपना सुख भोगने का आरोप लगाया था साथ ही उनके निवास पर 29 से भी ज्यादा एसी और काफी ज्यादा कूलर लगाने की बात सामने आई थी.
  • 2015 में अरविंद केजरीवाल ने नजीब जंग पर आरोप लगाया था कि वह केंद्र सरकार के कहने पर काम करते हैं और विशेषकर अफसरों  की तबादले करते हैं.
  • अरविंद केजरीवाल पर एक की B.Ed का भी विवाद है जहां पर  केजरीवाल ने अपने प्रचार के ऐड निकाला था जिसमें वह पेशाब करते रहे हम काम करते रहे पंक्ति शब्द का उपयोग किया गया था.
  • अरविंद केजरीवाल पर प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव के साथ एक विवाद सामने आए थे इस विवाद में आम आदमी पार्टी की स्थापना करने पर प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की भी योगदान थी लेकिन इन दोनों और केजरीवाल के बीच रिश्ते खराब होने के कारण इनके रिश्ते टूट गए और उस वक्त एक वीडियो में अरविंद केजरीवाल और दोनों को गालियां देते हुए नजर आए थे.
  • अरविंद केजरीवाल पर पार्टी को किसी लोकतांत्रिक तरीके के बिना अपनी मर्जी से चलाने के और उन पर घमंड होने का भी आरोप लगा है.
  • अरविंद केजरीवाल पर अपने सरकारी आवास को लेकर बहुत बड़ी विवाद सामने आई है एक टीवी चैनल की रिपोर्ट के बाद भारतीय जनता पार्टी ने केजरीवाल की घेराबंदी करना शुरू कर दी है उन पर आरोप है कि केजरीवाल पर अपनी सरकारी आवाज को चमकाने में ₹450000000 खर्च करने का आरोप लगी है और इस आरोप में बकायदा दस्तावेजों के साथ दावा किया गया है. जिनमें लाखों रुपए के परदे और करोड़ों रुपए की विदेशी टायर्स लगाए गए हैं. 

अरविंद केजरीवाल से जुड़ी महत्वपूर्ण और रोचक तथ्य (Arvind Kejriwal Important & Interesting Fact )

  • अरविंद केजरीवाल ने आईआईटी जेईई की परीक्षा पहली बार में ही निकाल ली थी.
  • अरविंद केजरीवाल सिविल सर्विस की परीक्षा पहली बार में ही निकाल लेते.
  • अरविंद केजरीवाल आईआरएफ ऑफिसर होने के दौरान भी अपने टेबल कुर्सी को प्रतिदिन खुद साफ किया करते थे और उन्होंने कभी चपरासी की सेवा नहीं ली.
  • अरविंद केजरीवाल और उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल की पहली मुलाकात नेशनल अकैडमी आफ एडमिनिस्ट्रेशन में 1994 में हुई थी.
  •  अरविंद केजरीवाल आमिर खान के और उनके अभिनय के बहुत बड़ी फैन है और वह लगभग आमिर खान के सारे फिल्म देखते हैं.

अरविंद केजरीवाल की नेट वर्थ कितनी है ? (Arvind Kejriwal Net Worth )

अरविंद केजरीवाल की 2023 के हिसाब से कुल चला चल  मिलाकर संपत्ति 4 करोड़ की आंकी गई है. 

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मसोशल मीडिया अकाउंट लिंक
TwitterClick Here 
Facebook Click here 
InstagramClick Here 
Youtube Click Here 
FacebookClick Here 
Linkedin Click Here 
Official Websites Click here 

यह भी पढ़ें

FAQs

अरविंद केजरीवाल का जन्म कहाँ हुआ?

सिवानी

अरविंद केजरीवाल की नेट वर्थ कितनी है ?

अरविंद केजरीवाल की 2023 के हिसाब से कुल चला चल  मिलाकर संपत्ति 4 करोड़ की आंकी गई है. 

केजरीवाल किसके लिए जाने जाते हैं ?

अरविंद केजरीवाल भारत भ्रष्टाचार के खिलाफ जाने जाते हैं.  

अरविंद केजरीवाल कौन है ?

अरविंद केजरीवाल एक राजनेता है और वर्तमान में हमारे देश के राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं.


केजरीवाल की बेटी का क्या नाम है?

हर्षिता केजरीवाल


केजरीवाल की कौन सी पार्टी है?

आम आदमी पार्टी

Leave a Comment

Welcome to Clickise.com Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes
error: Alert: Content selection is disabled!!
Send this to a friend