यात्रा और पर्यटनराज्य

Lakshadweep kahan hai | lakshadweep kaise jaye Easy Way | लक्षद्वीप कैसे पहुंचे

Pawin

Updated On.

lakshadweep
sara Tendulkar biography hindi

Rate this post

(Lakshadweep kahan hai , lakshadweep kaise jaye , लक्षद्वीप कैसे पहुंचे, Lakshadweep kaise jaye tourism,Lakshadweep kaise jaye map,lakshadweep tour package price,kochi to lakshadweep ship ticket price,lakshadweep tour packages 7 days,दिल्ली से लक्षद्वीप कैसे जाये,lakshadweep tourism, kochi to lakshadweep distance)

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केन्द्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप (lakshadweep) की यात्रा के बाद यह खूबसूरत आईलैंड दुनिया भर में चर्चे का विषय बना हुआ है. इस आईलैंड की खूबसूरती और प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इसके टूरिज्म (lakshadweep tourism) के प्रोमोशन करने से भड़के मालदीव के मंत्री ने हाल ही में कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया था, लेकिन ट्रोल होने के बाद उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया. चलिए इन सब चीजों से हटकर हम बात करते हैं लक्षद्वीप (lakshadweep island) के इतिहास के बारे में.

देशभारत
क्षेत्रदक्षिण भारत
गठन1 नवंबर 1956
पूंजीKavaratti
सबसे बड़ा शहरएंड्रयू
  
शरीरलक्षद्वीप सरकार (lakshadweep Government)
राष्ट्रीय संसदभारत की संसद
लोकसभामोहम्मद फैजल पदीपुरा
उच्च न्यायालयकेरल उच्च न्यायालय
क्षेत्र  कुल32.62 किमी2 (12.59 वर्ग मील)
पद36 वें
जनसंख्या (2011)
कुल64,473
घनत्व2,000/किमी2 (5,000/वर्ग मील)
भाषा
आधिकारिकमलयालम, अंग्रेजी
समय क्षेत्रUTC+05:30 (IST)
आईएसओ 3166 कोडइन-एलडी
वाहन पंजीकरणएलडी
HDI (2019)0.751 (चौथा)
साक्षरता (2011)91.85%
लिंगानुपात (2011)947♀/1000 ♂ (पहला)
वेबसाइटwww.lakshadweep.gov.in
चिड़ियाभूरा सिर हिलानेवाला
मछलीबटरफ़्लाय फ़िश
पेड़रोटी फल

लक्षद्वीप प्रदेश की इतिहास (Lakshadweep History)

लक्षद्वीप (lakshadweep) एक भारतीय केंद्र शासित प्रदेश है. लक्षद्वीप में कुल 36 द्वीप अवस्थित है. और सारे द्वीप समुद्री सीमा से जुड़ी हुई है. पश्चिम में अरब सागर और पूर्व में लक्षद्वीप सागर जो मालदीप और श्रीलंका के बीच से निकलने वाली जल निकाय है. लक्षद्वीप भारत के मालाबार तट से 200 से 440 किलोमीटर की दूरी में स्थित है.लक्ष्य द्वीप का अर्थका मतलब एक लाख द्वीप होता है.

लक्षद्वीप (lakshadweep) की कुल क्षेत्रफल लगभग 32 वर्ग किलोमीटर है. लक्षद्वीप का राजधानी (lakshadweep capital) कवारत्ती है. लक्षद्वीप पूर्ण रूप से केंद्र शासित प्रदेश है. क्योंकि लक्ष्य द्वीप को केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाती है. लक्षद्वीप में कुल 36 एक द्वीप शामिल थे लेकिन समुद्री कटाव के दीप करण एक द्वीप पानी में डूब जाने के कारण आप सिर्फ 35 द्वीप ही रहगया है.

लक्षद्वीप  (lakshadweep) के बारे में छठी शताब्दी ईसा पूर्व की बौद्ध जातक कहानियां में भी उल्लेख किया गया था. लक्षद्वीप में इस्लाम की स्थापना तब हुई जब सातवीं शताब्दी के आसपास मुसलमान का यहां पर आगमन हुआ था. आपको बता दे कि फिलहाल लक्ष्य द्वीपमें 90% से ज्यादा मुसल बसो बास करते हैं. मध्ययोगीकल के दौरान इस क्षेत्र पर  चेर राजवंश, चोल राजवंश कन्नूर साम्राज्य कै थोलिक पुर्तगाली 1498 के आसपास आए लेकिन 1545 तक उन्हें निकाल दिया गया था.

तब इस क्षेत्र पर अब कल के मुस्लिम घराने का शासन था. जो कोथली थीकन्नूर के राजाओं केजागीरदार थे. उसके 1799 में टीपू सुल्तानकी मृत्यु होने पर अधिकांश क्षेत्र ब्रिटिश के पास चला गया और उनके जाने के बाद 1956 में लक्षद्वीप को केंद्र शासित प्रदेश कागठन कर दिया गया.

आपको बता दे कि लक्ष्य द्वीप में कुल 36 दीपों में 10 दीपों पर ही लोग रहते हैं. 2011 कीजनगणना अनुसार केंद्र शासित प्रदेश लक्ष्यद्वीप की कुल जनसंख्या 64473 थी. लक्षद्वीप में अधिकांश आबादी मुस्लिम की है और उनमें से अधिकांश सुन्नी संप्रदाय के  शफ़ी स्कूल से संबंधित है. लक्षद्वीप के लोग ज्यादातर भारतीय राज्य केरला के मलयाली समान है. लक्षद्वीप में रहने वालेलोग ज्यादातर जेरेसी भाषा बोलता है. लेकिन सबसे ज्यादा धिवेही बोली जाने वाली भाषा है.

जो  मिनिकॉय द्वीप पर सबसे ज्यादा बोली जाती है. जबकि अमिंदीभी और  लैकाडिव द्वीप, मिनिकॉय लागत सबसे दक्षिणी द्वीप को छोड़कर जेरेसी भाषा बोली जाती है. जबकि यहां महल भाषा मलयालम की पोन्नानी लिपि  का प्रयोग लिखने के लिए किया जाता है. यहां की लोगों का मुख्य व्यवसाय नारियल की खेती करना तथा टुना फिश और मछलियों का पकड़ना ही मुख्य व्यवसाय है.

लक्ष्यद्वीप की आजादी

जब भारतीय राज्यों के पुनर्गठन 1 नवंबर 1956 को हुई थी तब लक्षद्वीप को सभी राज्य से अलग कर दिया गया था. तब लक्षद्वीप को मालाबार जिला और प्रशासनिक उद्देश्यों के लिए एक अलग केंद्र शासित प्रदेश के रूप में संगठित किया गया था. तब उसे क्षेत्र को लैकाडिव कहा गया. 1 नवंबर 1993 को लक्षद्वीप  नाम रखने से पहले मिनिकॉय और अमीनदीवी द्वीप समूह हुआ करता था.

जब लक्षद्वीप केंद्र शासित प्रदेशबना तब लक्ष्यदीप कामुख्यालय कोझिकोड था. बाद में फिर लगभगएक दशक के बादलक्ष्यद्वीप की राजधानी (capital of lakshadweep) कवारत्ती मैं हस्तांतरण कर दिया गया. भारत की महत्वपूर्ण शिपिंग लेने को मध्य पूर्व की सुरक्षा के लिए भारतीय नौसेना अध्यक्ष INS द्वीपरक्षक नियुक्त किया गया था.

लक्ष्यद्वीप की भूगोल (Lakshadweep Geography )

लक्षद्वीप (lakshadweep ) में कुल मिलाकर 36 द्वीप की टापू से बना हुआ है. इनमें से ज्यादातर टापू है जलमग्न है. ज्यादातर जलमग्न टापू में छोटी-छोटी बिना वनस्पति वाली रेट की चट्टानें है जलमंग डूबे हुए  प्रवाल टापू है. लेकिन सारे जितने भी टापू है वह उत्तर पूर्व दक्षिण पश्चिम की ओर है द्वीप पूर्वी किनारे पर स्थित है और. पश्चिमी किनारे पर अधिकतर जलमग्न चट्टानें हैं जो एक लैगून  घिरे हुए हैं. 36 टापू में वी सेकल 10 टापू में ही लोग रहा करते हैं. जिसमें से 17 टापू निर्जन दीपसे जुड़ी हुई है और चार नवागठित द्वीप और पांच जलमग्न चट्टान है.

लक्ष्यद्वीप की कुल जनसंख्या (lakshadweep Population )

लक्ष्यद्वीप की राजधानी कवारत्ती है और लक्षद्वीप की कुल जनसंख्या 2011 में हुई जनगणना के अनुसार 64473 है. 

लक्ष्यद्वीप की वनस्पति और जीव जंतु

लक्ष्यद्वीप (lakshadweep) की समुद्र में बहुत सारे ऐसे वनस्पति और जीव जंतु है इस में से यहां के समुद्र में लगभग 600 से भी अधिक प्रजातियों के मछलियां पाई जाती है. 52 प्रजातियों के केकड़ा, 101 प्रजातियों के पंछी, साथी यहां भारत के चार मूंगा चट्टान भी पाई जाती है. मूंगा पर्यटनों के लिए एक प्रमुख आकर्षण के रूप में माना जाता है .

यहां परसमुद्री कछुओं के लिए एक महत्वपूर्ण प्रजनन स्थल के रूप में भी माना जाता है. यहां के समुद्र में डॉल्फिन पायलट वेल मछली साथ में यहां के वनस्पति के बारे में बात किया जाए तो इस क्षेत्र में समुद्री वनस्पति नहीं है और लगभग सभी पौधे भारत की मुख्य भूमि पर पे जा सकते हैं. लक्षद्वीप में वनों का भी अभाव है फूलों के पौधे की लगभग 400 प्रजातियों पाई जाती है. जिम समुद्री घासो की तीन प्रजातियों भी शामिल है. 

लक्षणद्वीप की सरकार और प्रशासन

लक्ष्य द्वीप (lakshadweep) भारत के आठ केंद्र शासित प्रदेश में से एक केंद्र शासित प्रदेश है. और लक्ष्यदीप को भारत के राष्ट्रपति संविधान के अनुच्छेद 239 के तहत वर्तमान में लक्षद्वीप के प्रशासक  प्रफुल्ल खोड़ा पटेल है. लक्षद्वीप के क्षेत्र में 10 उप विभाग है  मिनिकॉय और अगत्ती में उपमंडल एक डिप्टी कलेक्टर के अधीन में रहता है. जबकि बाकी के आठ टापू में विकासात्मक गतिविधियों का समन्वय ऊप मंडल अधिकारियों द्वारा किया जाता है.

यहां पर जिला मजिस्ट्रेट भी है जो जिला प्रशासन के अंतर्गत आने वाले मामलों जैसे कि राजस्व भूमि निपटा कानून और व्यवस्था की रेट देख करते हैं. यहां पर कानून और व्यवस्था को लागू करने के संबंध में जिला मजिस्ट्रेट को एक अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट और 10 कार्यकारी मजिस्ट्रेटरों द्वारा सहायता प्रदान की जाती है. और यहां पर लक्षद्वीप पुलिस के महान निरीक्षण के रूप में प्रशासक के पास लक्ष्य द्वीप पुलिस की कमान और नियंत्रण है प्रशासन सचिवालय लक्ष्यद्वीप की राजधानी कावारत्ती में है है.

न्यायपालिका के लिए केंद्र शासित प्रदेश केरल राज्य के साथ केरल उच्च न्यायालय कोची और उनके अंतर्गत निचली अदालतों की एक प्रणाली से मिलता जुलता है. 1997 से लक्ष्यद्वीप की राजधानी कावारत्ती में जिला और सत्र न्यायालय ने लक्ष्यदीप के लिए प्रथम न्यायालय के रूप में कार्य किया है. 

लक्ष्यद्वीप की भाषा (lakshadweep Language )

लक्षद्वीप में मुख्य रूप से मलयालम और दूसरी धिवेही. लेकिन उत्तरी टापू के लोग जेसेरी भाषा बोलते हैं. द्वीप के दक्षिणी एटल अरबी मलयालम भाषा बोली जाती है. इसमें सेप्रत्येक टापू की अपनी अपनी भाषाएं हैं बोली है. 

कल्पेनी, और अगत्ती, एंड्रोथ, कवारत्ती, अमिनी , कदमत, किल्तान, द्वीपों पर बोली जाती है बितरा,  यह  लक्षद्वीप में बोली जाती है।  मलयालम को मलयालम लिपि के साथ ब्रिटिश राज के दौरान लक्ष्यद्वीप की प्राथमिक भाषाओं के रूप में पेश किया गया था. जिसे पोन्नानी लिपि कहा जाता है. 

लक्ष्यद्वीप की अर्थव्यवस्था (Lakshadweep Economic )

2004 के अनुसार के अनुसार लक्ष्यद्वीप की क्षेत्रीय घरेलू उत्पादक 3.24 विलियन डॉलर था. लेकिन अब 2023 के अनुसार या आंकड़ा बढ़ातेहुए 11 बिलियन डॉलर हो चुका है. लक्षद्वीप में थोड़ी आर्थिक असमानता है और गरीबी सूचकांक कम है. लक्ष्यद्वीप की प्रथम उत्पादक मेंनारियल फाइबरकी उत्पादन तथा निष्कर्ष और उत्पादन लक्षद्वीप का मुख्यउद्योग है. भारत सरकार द्वारा संचालित पांच नारियल फाइबर कारखाने है. यह कारखाने  ये इकाइयां कॉयर फाइबर, कॉयर यार्न, कर्ल्ड फाइबर और कॉरिडोर मैटिंग का उत्पादन करती हैं. 

मत्स्य पालन

नारियल उत्पादन के बाद लक्ष्यद्वीप की मत्स्य पालन दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में शामिल है लक्ष्य द्वीप (lakshadweep) के आसपास लगभग 132 किलोमीटरकी क्षेत्रफल में टूना और टूना जैसी मछलियां लगभग 100 किलो टन और लगभग इतनी ही मात्रा में टूना मछली पाई जाती है. साथ ही इन मछलियों का निर्यात भी किए जाते हैं.

यहां के लोग तुना मछलियों को पकड़ कर धूप में सुखाकर संसाधित किया जाता है और इसे निर्यात की जाती है. यहां के लोगों की मुख्य आजीविका मछली पकड़ना और नारियल की उत्पादन करना है. लक्षद्वीप (lakshadweep) के आसपास के समुद्र में सार्क डिपो में 11 कार्यशालाएं हैं औरदो नव निर्माण या मछुआरों की जरूरत को पूरा करते हैं लक्ष्यदीप में लगभग 375 नाव/नौका तथा जहाज की परिचालन में रखा गया है. 

पर्यटन (lakshadweep Truism )

लक्ष्य द्वीप (lakshadweep) में पर्यटन उद्योग 1974 से शुरू हुआ था. जब बंगाराम अतुल को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन के लिए खोला गया था.और लक्ष्य द्वीप पर्यटन के महत्वपूर्ण राजस्व का एक स्रोत है. क्योंकि लक्षद्वीप में बहुत सारे ऐसे छोटे-छोटे टापू है जहां पर उद्योगों कापरिचालन करना नामुमकिन है इसलिए सरकार इस तरह के दीपों में आय के साधनों के रूप में पर्यटनों को सक्रिय रूप से बढ़ावा दे रही है. बंगाराम को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन के लिए एक प्रमुख गंतव्य बनाने कालक्ष्य रखा गया है.

क्योंकि यहां पर समुद्री जीव प्रचुर मात्रा में है साथी जल क्रीड़ा गतिविधि यां जै से स्कूबा डाइविंग, विंड सर्फिंग, स्नॉर्कलिंग, सर्फिंग, कयाकिंग, कैनोइंग, वॉटर स्कीइंग कुछ महीना को छोड़कर पर्यटक यहां साल भर इन दीपू पर आते रहते हैं. सरकार ने यहां पर दो सीमा शुल्क निकासी चेक इन कार्यालय अभी स्थापना करने का प्रस्ताव दिया है. ताकि पर्यटक कोच्चि में निकटतम सीमा शुल्क कार्यालय से अनुमति लेने के बजाय सीधे प्रवेश कर सके.

जो इन द्वीपों से 260 मील से 480 मिल की दूरी है. यह भारत के सबसे छोटे सीमा शुल्क कार्यालय होंगे इन कार्यों के खुलने के बाद पर्यटन को बड़ा बढ़ावा मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. क्योंकि टापू सबसे व्यस्त क्रूज मार्गो में से एक पर स्थित है. 

पर्यटकों को टापू पर जाने के लिए अनिवार्य रूप से अनुमति की आवश्यकता होती है और विदेशी नागरिकों को कुछ डिपो पर जाने की अनुमति नहीं है. वर्तमान के अनुसार भारत के शराब जैसे अल्कोहल पर पदार्थ लक्ष्य द्वीप में सेवन करने की अनुमति नहीं है. 

लक्ष्यद्वीप (lakshadweep) की अर्थव्यवस्था तथा हाई एंड पर्यटन, टेलीमेडिसिन, टैली एजुकेशन, मत्स्य पालन और अन्य को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने हाई स्पीड मोबाइल और इंटरनेट कनेक्टिविटी के लिए समुद्र के नीचे से फाइबर ऑप्टिकल केबल स्थापित करने काभी एक परियोजना की घोषणा की है.  कोच्चि और लक्षद्वीप के कवरत्ती, कल्पेनी, अगाती, अमिनी, एंड्रोथ, मिनिकॉय, बंगाराम, बितरा, चेटलाट, किल्टान और कदमत सहित 11 द्वीपों के बीच। यह ₹10.72 बिलियन (US$130 मिलियन) प्रोजेक्ट मई 2023 तक पूरा हो गया है।

लक्षद्वीप में शिक्षा की व्यवस्था (lakshadweep Education )

सामान्य रूप से लक्षद्वीप (lakshadweep) में मिनिकॉय मैं जवाहर नवोदय विद्यालय है. साथी यहां पर यूनिवर्सिटी सेंटर गवर्नमेंटजवाहरलाल नेहरू कॉलेज महात्मा गांधी कॉलेजइत्यादि शिक्षा के लिए व्यवस्थाहै.

लक्षद्वीप कैसे पहुंचे 

वायु मार्ग (lakshadweep airport)

लक्षद्वीप में वायु मार्ग के माध्यम से जाने के लिए अगात्ती हवाई अड्डा हैजो लक्ष्यदीप के एक मात्र हवाईअड्डा है. यह हवाई अड्डा में सरकार की एकमात्र एयर लाइंस एलाइंस एयर लाइंस जो कोच्चि और बेंगलुरु से जाती है (kochi to lakshadweep flight) . इसके अलावा पवन हंस नामक एक हेलिकॉप्टर भी है.

समुद्रीमार्ग

लक्षद्वीप (lakshadweep) के लिए समुद्री मार्ग छह जहाज कोच्चि, कोझिकोड (बेपोर) को जोड़ते हैं और लक्षद्वीप: MV कवारत्ती, MV Amindivi, एमवी मिनिकॉय, एमवी अरब सागर, एमवी द्वीपों के बीच नाव/नौका सेवा उपलब्ध है.

निष्कर्ष :- लक्षद्वीप (lakshadweep) एक केंद्र शासित प्रदेश है.जिसे केंद्र सरकार द्वारा चलाईजाती है. लक्ष्यदीप पर्यटन के दृष्टिकोण से देखा जाए तो काफी खूबसूरत और अट्रैक्टिव जगह माना जाता है. लक्षद्वीपविप में ज्यादातरनारियल की खेती तथा मत्स्य पालन की जाती है. लक्षद्वीपकल 36 टापू से बना हुआ एक प्रदेश है.आशा करता हूं आप लोगों को यह लेकर जरूर पसंद आई हो यदि किसी तरह का कोई सुझाव या सलाह है तो हमें कमेंट जरुर करें धन्यवाद. 

यह भी पढ़ें

FAQs

Q. लक्षद्वीप जाने के लिए क्या करें?

A. आप कोची से अगत्ती तक लगभग डेढ़ घंटे में पहुंच सकते हैं. दूसरा तरीका समुद्र मार्ग का है, जिससे जहाज लक्षद्वीप पहुंच सकते हैं

Q. क्या लक्षद्वीप के लिए पासपोर्ट जरूरी है?

A. लक्ष्यद्वीप मैं भारतीयों के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ेगी. क्योंकि यह भारत की केंद्रीय शासित प्रदेश है.

Q. लक्षद्वीप में बोली जाने वाली भाषा कौन सी है?

A. लक्ष्यद्वीप मैं बोली जाने वाली भाषा मलयालम है.

Q. लक्षद्वीप में घूमने का सबसे अच्छा समय क्या है?

A. लक्ष्यद्वीप मैं घूमने के लिए सर्दी के मौसम अक्टूबर से लेकर मार्च तक सबसे अच्छी मानी जाती है.

Q. क्या लक्षद्वीप में शराब की अनुमति है?

A. लक्ष्यद्वीप मैं शराब पीना मना है.

Q. लक्षद्वीप कौन से देश में आता है?

A. लक्ष्यद्वीप भारत का केंद्र शासित प्रदेश है.

Q. लक्षद्वीप में कौन सा हवाई अड्डा स्थित है?

A. अगट्टी हवाई

Q. लक्षद्वीप का मुख्य व्यवसाय क्या है?

A. लक्ष्यद्वीप की मुख्य व्यवसाय मछली पकड़ना नारियल की खेती और टूरिज्म है.

Q. लक्षद्वीप का दूसरा नाम क्या है?

A. लक्ष्यद्वीप की दूसरा नामएक लाख द्वीप है.

Leave a Comment

Welcome to Clickise.com Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes
error: Alert: Content selection is disabled!!
Send this to a friend