सरकारी योजना

PM Vishwakarma Yojana : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना 2023, देश की कामगारों को मिलेगा दो लाख तक का सस्ता ऋण, ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ? Easy Way में

Pawin

Updated On.

PM Vishwakarma Yojana
sara Tendulkar biography hindi

Rate this post

PM vishwakarma yojana, PM vishwakarma yojana in Hindi, pm vishwakarma yojana registration, pm vishwakarma yojana online registration, pm vishwakarma yojana online apply 2023, pm vishwakarma yojana official website, pm vishwakarma yojana 2023, pm vishwakarma yojana pdf, pm vishwakarma yojana website, pm vishwakarma yojana portal, पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना upsc,विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2023, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना Registration, विश्वकर्मा योजना ऑनलाइन फॉर्म, pm vishwakarma gov in,Pm vishwakarma yojana online apply, विश्वकर्मा योजना mp, विश्वकर्मा योजना महाराष्ट्र,

 प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना एक ऐसी योजना है जिसके मदद से देश में रहने वाले ऐसी समुदाय जो अपने हाथों और औजारों के मदद से  परंपरागत रूप से करते आ रहे कार्य को और भी ज्यादा मजबूत बनाना और उन लोगों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए इस योजना का शुरुआत 2023 24 की बजट में देश के वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण द्वारा घोषणा की गई है.  यह एक ऐसी योजना है इस योजना को पूरे देश के राज्य और केंद्रीय शासित राज्य के लोग इस योजना का लाभ ले सकते हैं.  यदि आप भी इस योजना  का लाभ लेना चाहते हैं तो नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें. 

Table of Contents

पीएम विश्वकर्मा  कौशल सम्मान योजना क्या है? (What is pm vishwakarma yojana )

पीएम विश्वकर्मा योजना अर्थात पीएम विश्वकर्मा सम्मान योजना की  शुरुआत की घोषणा 2023-24  की बजट के दौरान देश के वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण के द्वारा की गई है. जो लोग विश्वकर्मा समुदाय से संबंध रखते हैं उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा.  इसलिए इस योजना का नाम भगवान विश्वकर्मा के नाम से भी रखा गया है.

इस योजना के अंतर्गत आने वाली वह संपूर्णा लोग जो विश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत कुल 140 से भी ज्यादा जनजाति है आते हैं जो भारत के अलग-अलग राज्य या केंद्र शासित राज्य में निवास करते हैं.  इस योजना के तहत उन लोगों को सीधे लाभ मिलेगा जो पारंपरिक रूप से अपने हाथों और औजारों के मदद से अपने हुनर  के बदौलत अपनी और अपने परिवार की लालन पोषण करते हैं ऐसे लोगों के लिए सरकार ने इस योजना का शुरुआत की है. 

जिससे उन लोगों की हुनर को और भी ज्यादा निखारने का मौका मिलेगा साथ में उस हुनर का सर्टिफिकेट और आईडी कार्ड भी मिलेगा. इस योजना के तहत सरकार की तरफ से हुनर के हिसाब से तकनीकी प्रशिक्षण दी जाएगी साथ में प्रशिक्षण अवधि में लाभार्थी को प्रतिदिन रूप ₹500 की दर से भत्ता भी दी जाएगी और साथ में 15000 रुपैया टूल किट के लिए अनुदान दी जाएगी. 

यदि प्रशिक्षण लेने के बाद लाभार्थी खुद का कोई व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो ऐसे में ₹200000 तक का क्रेडिट गवर्नमेंट 5% वार्षिक ब्याज दर के हिसाब से उपलब्ध कराएगी साथ में बाजार व्यवस्था का भी व्यवस्था कर आएगी.  यदि आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं आप भी इस  समुदाय के अंतर्गत आते हैं तो नीचे विस्तृत रूप से जानकारी दी गई है

पीएम विश्वकर्मा योजना के उद्देश्य (pm vishwakarma yojana Mission )

 पीएम विश्वकर्मा योजना एक नया योजना है जिसे हाल ही में केंद्रीय सरकार द्वारा शुरू की गई है.  पीएम विश्वकर्मा योजना का मुख्य उद्देश्य देश के विभिन्न राज्य में अवस्थित  उन नागरिक के लिए है जो पारंपरिक कारीगरों और शिल्प कारों को उनके पारंपरिक उत्पादन ओ और सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है. साथ ही उक्त योजना के आधार पर समग्र सहायता प्रदान करने की भी परिकल्पना की गई है.  पीएम विश्वकर्मा योजना का उद्देश्य नीचे दी गई है.

  • पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत कारीगरों और शिल्प कारों को विश्वकर्मा के रूप में मान्यता देना और उन्हें योजना के तहत सभी लाभ प्रदान करने के लिए पात्र बनाना है.
  •  कौशल उन्नयन प्रदान करना और उनके कौशल को निखार था और उनके लिए  प्रासंगिक और संयुक्त प्रशिक्षण अवसर उपलब्ध कराना है.
  •  उन कारीगरों की क्षमता उत्पादकता और उत्पादों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए और उस के बेहतर और आधुनिक उपकरणों के लिए सहायता प्रदान करना है.
  •  इच्छित  लाभार्थियों को सम पास ट्रिक मुक्त ऋण तक आस्थान पहुंच प्रदान करना और ब्याज दर में छूट प्रदान  करके रेल की लागत में कम करना है.
  •  डिजिटल लेनदेन के लिए प्रोत्साहन प्रदान करना और इन विश्वकर्मा ओके डिजिटल सशक्तिकरण को प्रोत्साहित करना है.
  • विकास के लिए नए अवसरों तक पहुंचने में मदद करने के लिए ब्रांड और प्रचार-प्रसार और बाजार लिंकेज के लिए एक मंच तैयार करना है.
योजना का नामपीएम विश्वकर्मा योजना 
लांच होने की तिथिमार्च 2023
किसके द्वारा घोषणा की गईवित्त  मंत्री निर्मला सीतारमण
योजना के उद्देश्यविश्वकर्मा समुदाय के लोगों को ट्रेनिंग और कम ब्याज में ऋण उपलब्ध कराना
योजना के लाभार्थीविश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत आने वाली संपूर्ण जातियां
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmvishwakarma.gov.in/
फोन नंबर या टोल फ्री नंबर Coming Soon

पीएम विश्वकर्मा योजना

 हमारे देश में करोड़ों विश्वकर्मा जो अपने हाथ उपकरणों और औजारों की के मदद से कड़ी मेहनत करके आमदनी करते हैं साथ ही अपने परिवार को चलाते हैं, यह सारे देश के निर्माता कहलाते हैं. इस योजना के अंतर्गत लोहार,  सोनार,  बढ़ाई,  कुम्हार,  मूर्तिकार,  कारीगर,  राजमिस्त्री इत्यादि जैसे अनगिनत लोग शामिल हैं. जो अपने गुजारा करने के लिए कड़ी मेहनत करके अपने आर्थिक स्थिति को सुधार कर रहे हैं.  ऐसे लोगों की बहुत विशाल सूची सरकार के पास है. 

सरकार ने इन सभी विश्वकर्मा ओं की कड़ी मेहनत का समर्थन करने के लिए  हाल ही में सरकार ने पीएम विश्वकर्मा योजना को लाने की घोषणा की है इस योजना के तहत ऐसे लोगों के लिए प्रशिक्षण,  प्रौद्योगिक,  रेड और बाजार समर्थन के प्रावधान के लिए लाए गए हैं.  आने वाले दिन में इस योजना के तहत हमारे देश के करोड़ों विश्वकर्मा लोगों के आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान यानी कि पीएम विश्वकर्मा योजना का घोषणा की गई है.

पीएम विश्वकर्मा योजना का लाभ

मान्यता : सबसे पहला लाभ तो उन विश्वकर्मा लोगों को प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड के माध्यम से विश्वकर्मा के रूप में पहचान और मान्यता दिलाएगी.

कौशल : योजना के तहत कौशल सत्यापन के बाद 5 से 7 दिन यानी कि 40 घंटे का बुनियादी प्रशिक्षण दी जाएगी साथ ही इच्छुक उम्मीदवार को 15 दिन यानी कि 120 घंटे के प्रशिक्षण के लिए भी नामांकन किया जाएगा.

 प्रशिक्षण के अवधि में प्रतिदिन रूप 500 रुपैया भत्ता भी दी जाएगी.

संबंधित कौशल प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद पुलकित प्रोत्साहन राशि के लिए ₹15000  रुपए अनुदान  दी जाएगी.

 क्रेडिट सहायता : ट्रेनिंग के बाद खुद की व्यवसाय शुरू करने के लिए सरकार ने कम ब्याज पर ₹200000 तक का ऋण प्रदान करने की योजना बनाई है. जिसमें पहली किस्त में ₹100000 दी जाएगी जिसमें आपको 5% के हिसाब से ब्याज ली जाएगी साथ ही 8% की ब्याज छूट सीमा भी MoMSME  द्वारा भुगतान की जाएगी. और क्रेडिट गारंटी शुल्क भारत सरकार द्वारा बहन की जाएगा.

योजना के तहत डीजल लेनदेन के लिए प्रोत्साहन अधिकतम यूएक्सो लेनदेन के लिए प्रति लेनदेन ₹1 मिलेगी.

विपणन सहायता :  इस योजना के तहत राष्ट्रीय विपणन समिति गुरुत्व प्रमाणन ब्रांडिंग और प्रचार जैसी सेवाएं प्रदान करेगी जिसमें ई-कॉमर्स लिंकेज व्यापार मेले विज्ञापन प्रचार और अन्य विभिन्न गतिविधियां शामिल रहेगी.

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के लिए पात्रता 

  • पीएम विश्वकर्मा योजना में विश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत आने वाले संपूर्ण  लोग इस योजना के पात्रता होंगे.
  • स्वरोजगार के आधार पर असंगठित क्षेत्र में हाथ और औजारों से काम करने वाला और योजना में उल्लेखित योजना के तहत परिवार के किसी एक व्यक्ति आवेदन कर सकते हैं.
  • आवेदन की तिथि पर लाभार्थी की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए.
  • लाभार्थी पंजीकरण की तिथि पर संबंधित व्यापार में संलग्न होना चाहिए और  स्वरोजगार व्यवस्था या विकास के लिए केंद्र सरकार या राज्य सरकार की सामान क्रेडिट आधारित योजनाओं जैसे पीएमईजीपी,  पीएम सुनिधि, मुंद्रा, के तहत  पिछले 5 वर्ष में किसी प्रकार की दिन नहीं लेना चाहिए.
  • इस योजना के तहत पंजीकरण और लाभ परिवार के एक सदस्य तक ही सीमित रहेगा योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए एक परिवार को पति या पत्नी और अब विवाहिता बच्चों के रूप में परिभाषित किया गया है.
  • इस योजना का लाभ सरकारी सेवा में कार्यरत व्यक्ति और उनके परिवार के सदस्यों को नहीं मिलेगी. 
  •  इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवश्यक और महत्वपूर्ण दस्तावेज नीचे दी गई है.
  •  इस योजना का लाभ लेने के लिए सिर्फ भारतीय निवासी ही आवेदन कर सकेंगे.

 पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  •  आधार कार्ड 
  •  राशन कार्ड 
  •  पैन कार्ड
  •  निवास प्रमाण पत्र
  •  जाति प्रमाण पत्र
  •  श्रम कार्ड
  •  कांटेक्ट नंबर
  •  ईमेल आईडी
  • बैंक पासबुक
  •  पासपोर्ट साइज की फोटो

पीएम विश्वकर्मा योजना के योग्य ट्रेड

पीएम विश्वकर्मा योजना के योग्य ट्रेड
लकड़ी आधारितCarpenter (Suthar)नाव बनाने वाला
सोना/चांदी आधारितगोल्डस्मिथ (द्वारा प्रस्तुत)
वास्तुकला/निर्माणMason (Raajmistri)
लौह/धातु आधारित*/पत्थर आधारितअस्रकारBlacksmith (Lohar)हथौड़ा और टूल किट निर्मातामरम्मत करनेवालामूर्तिकार (मूर्तिकार, पत्थर तराशने वाला), पत्थर तोड़ने वाला
मिट्टी आधारितकुम्हार (कुम्हार)
चमड़े पर आधारितमोची (चर्मकार)/जूता कारीगर/फुटवियर कारीगर
अन्यटोकरी/चटाई/झाड़ू निर्माता/कयर बुनकरगुड़िया और खिलौना निर्माता (पारंपरिक)नाई (सिलाई)माला निर्माता (चलना)Washerman (Dhobi)दर्जी (दारज़ी)मछली पकड़ने का जाल निर्माता

नोट: (*) इसमें कांस्य, पीतल, तांबा, डायस, बर्तन, मूर्तियाँ आदि का निर्माण भी शामिल है।

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया 

पीएम विश्वकर्मा योजना के लाभ लेने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा और ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको आवश्यक दस्तावेज के  के साथ कूल चार चरण में आवेदन होगा .पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन सीएससी कॉमन सर्विस सेंटर के द्वारा किए जाएंगे.  इसके लिए आपको नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर में जाना है और अपनी आवश्यक दस्तावेज के अनुसार ऑनलाइन आवेदन करना है जो नीचे दी गई है

पहला चरण : पहला चरण में सबसे पहले आप को अपने मोबाइल नंबर और आधार नंबर  कि आधार पर अपना मोबाइल नंबर प्रमाणीकरण और आधार ईकेवाईसी  कराना होगा.

 दूसरा चरण : दूसरा चरण में आपको कारीगर पंजीकरण फार्म के लिए आवेदन करना होगा.

 तीसरा चरण : तीसरा चरण में आपको पीएम विश्वकर्मा प्रमाण पत्र डिजिटल आईडी कार्ड और प्रमाण पत्र डाउनलोड  कर सकेंगे.

 चौथा चरण : चौथा चरण में आप अपने योजना घटकों के लिए आवेदन करें जहां विभिन्न घटकों के लिए आवेदन करने की प्रारंभ कर सकेंगे.

लाभार्थी का पंजीकरण उपरांत तीन चरण में सत्यापन होगा जो निम्न दी गई है 

  • ग्राम पंचायत और यूएलबी लेवल पर सत्यापन
  •  जिला क्रियान्वयन समिति द्वारा जांच तथा अनुसंधान और सत्यापन.
  •  स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा अनुमोदन और सत्यापन 

 पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ?

चरण-1: वेबसाइट https://pmvishwakarma.gov.in/ खोलें और “लॉगिन” ड्रॉप पर क्लिक करें

चरण-2: लॉगिन ड्रॉपडाउन मेनू से, देखने के लिए “सीएससी- ई-श्रम डेटा देखें” विकल्प चुनें, पीएम विश्वकर्मा में रजिस्टर के लिए ई-श्रम डेटा उपलब्ध है।

चरण-3: अपने सीएससी उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड का उपयोग करके लॉग इन करें।

चरण-4: सीएससी उपयोगकर्ता ई-श्रम पंजीकृत आवेदक विवरण देख सकते हैं। तो वे उनसे संपर्क कर सकते हैं, आवेदक और उन्हें पीएम विश्वकर्मा में पंजीकृत करें।

चरण-5: पीएम विश्वकर्मा में कारीगरों को पंजीकृत करने के लिए, सीएससी उपयोगकर्ताओं को  सीएससी-रजिस्टर” का चयन करना होगा, लॉगिन ड्रॉप डाउन से कारीगरों का विकल्प।

चरण-6: अपने सीएससी उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड का उपयोग करके लॉग इन करें

चरण-7: “क्या आपके परिवार में कोई सरकारी कर्मचारी है?” में ‘नहीं’ चुनें। और हैआपने केंद्र सरकार या राज्य की समान योजनाओं के तहत क्रेडिट/ऋण सुविधा का लाभ उठाया है, स्व-रोज़गार/व्यवसाय विकास के लिए सरकार, उदा. पीएमईजीपी, पीएम स्वनिधि, मुद्रापिछले 5 वर्षों में?” और ‘जारी रखें’ बटन पर क्लिक करें।

चरण 8: “आधार से जुड़ा हुआ मोबाइल नंबर दर्ज करें” और कारीगरों का आधार नंबर दर्ज करें, क्लिक करें”ओटीपी” बटन पर क्लिक करें और आधार से जुड़े मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी सत्यापन करें।फिर बायोमेट्रिक का उपयोग करके आधार प्रमाणीकरण करें। बायोमेट्रिक का उपयोग करके प्रमाणीकरण के लिएबायोमेट्रिक बटन पर क्लिक करें और बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण करें।

चरण-9: पंजीकरण फॉर्म भरें। व्यक्तिगत विवरण अनुभाग में, नाम, पिता/आधार से जीवनसाथी का नाम, जन्मतिथि और लिंग स्वचालित रूप से प्राप्त हो जाएगा। चुननावैवाहिक स्थिति, कारीगर की श्रेणी (जनरल/एससी/एसटी/ओबीसी) का चयन करें। चुनें कि क्याकारीगर दिव्यांगजन है या नहीं, यदि कारीगर दिव्यांगजन है तो दिव्यांगजन का प्रकार चुनें। चुननाक्या कारीगर एक ही राज्य में व्यवसाय कर रहा है या नहीं और कारीगर का चयन करेंअल्पसंख्यक वर्ग में है या नहीं, यदि हाँ तो अल्पसंख्यक वर्ग का चयन करें।

चरण-10: संपर्क विवरण अनुभाग में, मोबाइल नंबर और आधार नंबर होगास्वत: भरा हुआ. यदि उपलब्ध हो तो पैन कार्ड नंबर दर्ज करें

चरण-11: परिवार विवरण अनुभाग में, यदि राशन कार्ड संख्या आधार संख्या से जुड़ी हुई है. राशन कार्ड संख्या और परिवार का विवरण स्वतः भर जाएगा, अन्यथा राशन कार्ड संख्या दर्ज करेंपारिवारिक विवरण प्राप्त करने के लिए, यदि राशन कार्ड उपलब्ध नहीं है तो परिवार की जानकारी मैन्युअल रूप से जोड़ें।

चरण-12: आधार पता विवरण अनुभाग में, आधार पता, राज्य, जिला और पिनकोड स्वतः भर जाएगा. यदि आधार का पता वर्तमान पते के समान है, तो पर क्लिक करें”आधार पते के समान।” और चयन करें कि कारीगर ग्राम पंचायत के अंतर्गत आता है या नहींनहीं यदि हाँ तो ब्लॉक एवं ग्राम पंचायत का चयन करें,यदि कारीगर शहरी क्षेत्र के हैं तो “क्या आप ग्राम पंचायत के अंतर्गत आते हैं” में नहीं चुनेंयूएलबी नाम चुनें।

चरण-13: आधार पता विवरण अनुभाग में, यदि आधार पता अलग है, तो चयन करें”अन्य” और कारीगर ग्राम पंचायत के अंतर्गत आते हैं या नहीं इसका चयन करें और प्रवेश करेंवर्तमान पता विवरण.

चरण-14: व्यवसाय/व्यापार विवरण अनुभाग में, कारीगर का व्यवसाय/व्यापार नाम चुनें।फिर यह घोषित करना होगा कि उसका पेशा/व्यापार पारिवारिक पेशा है और चुनिंदा व्यवसाय हैपता, यदि व्यवसाय का पता आधार के समान है तो “आधार पते के समान” चुनेंवर्तमान पते के समान, फिर “वर्तमान पते के समान” चुनें।यदि व्यावसायिक पता आधार और वर्तमान पते से भिन्न है तो अन्य विकल्प चुनें औरव्यावसायिक पता दर्ज करें

चरण-15: बचत बैंक विवरण अनुभाग में, कारीगर के बैंक खाते का नाम चुनें, दर्ज करेंआईएफएससी कोड, बैंक शाखा का नाम चुनें और खाता संख्या दर्ज करें और इसकी पुष्टि करेंखाता संख्या पुनः दर्ज करके.

चरण-16: क्रेडिट सहायता अनुभाग में, चुनें कि कारीगर को क्रेडिट सहायता की आवश्यकता है या नहीं(हां या बाद में हो सकता है), और यदि क्रेडिट सहायता की आवश्यकता है, तो रुपये तक की राशि दर्ज करें। 1,00,000.यदि कारीगर उसी बचत बैंक/शाखा में ऋण लेना चाहते हैं, तो पसंदीदा बैंक/शाखा मेंऋण लें, बचत बैंक खाते के समान चयन करेंअन्यथा यदि कारीगर अलग-अलग बैंक शाखा से ऋण लेना चाहते हैं तो दूसरे का चयन कर बैंक का चयन करेंऔर शाखा जहां से कारीगर ऋण लेना चाहते हैं। ऋण का उद्देश्य चुनें और मौजूदा दर्ज करें, ऋण बकाया जानकारी, यदि कोई हो, और कुल मासिक पारिवारिक आय दर्ज करें।

चरण-17: डिजिटल प्रोत्साहन अनुभाग में, चुनें कि कारीगर के पास कोई यूपीआई आईडी है या नहींहाँ या नहीं। यदि हाँ, तो UPI आईडी विवरण प्रदान करें। यदि यूपीआई आईडी से जुड़ा मोबाइल नंबर दर्ज करें उपलब्ध।

चरण-18: कौशल प्रशिक्षण अनुभाग और टूल किट अनुभाग में योजना को पढ़ें और समझें घटक लाभ.

चरण-19: मार्केटिंग सहायता अनुभाग में, विभिन्न मार्केटिंग-संबंधित सहायता का चयन करें. इस योजना के तहत मिलने वाले लाभ.

चरण-20: घोषणा और नियम और शर्तें स्वीकार करें

चरण-21-: सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करें। ए

रजिस्ट्रेशन नंबर जनरेट हो जाएगा.

यह भी पड़े हैं

FAQs.

Q. पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत लाभ कैसे प्राप्त करें ?

Ans.- इस योजना की लाभ पाने के लिए https://pmvishwakarma.gov.in/    पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करें.

Q. पीएम विश्वकर्मा योजना की शुरुआत कब से हुई ?

 Ans. – इस योजना की शुरुआत 2023 में हुई

Q. पीएम विश्वकर्मा योजना के लाभ कौन कौन ले सकता है ?

 Ans.- इस योजना का लाभ वह तमाम विश्वकर्मा समुदाय के लोग जो  अपने परंपरागत  हुनर वाले लोग ले सकते हैं.

Q. पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत मिलने वाली लोन में कितने प्रतिशत ब्याज लगेगा?

 Ans- इस योजना के तहत मिलने वाली लोन में 5% वार्षिक ब्याज दर लगेगा.

Q. पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत कितना लोन मिलेगा?

 Ans इस योजना के तहत कुल ₹200000 तक लोन मिलेगा.

Q. क्या सरकारी कर्मचारी पीएम विश्वकर्मा योजना का लाभ ले सकता है?

 Ans नहीं 

Leave a Comment

Welcome to Clickise.com Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes
error: Alert: Content selection is disabled!!
Send this to a friend