इनफार्मेशन

What is CAA : जानें क्या है नागरिकता संशोधन कानून,CAA कानून लागू होने से क्या होगा

Pawin

What is CAA
sara Tendulkar biography hindi

Rate this post

What is CAA , जानें क्या है नागरिकता संशोधन कानून,CAA कानून लागू होने से क्या होगा?, caa full form, nrc kya hai, caa full form in hindi, nrc caa full form, caa-nrc, caa full form in banking, caa कब लागू हुआ, nrc full form in hindi, caa full form, caa and nrc, citizenship act, 1955, What is CAA, citizenship amendment act 2020 )

What is CAA : नागरिकता संशोधन कानून को लेकर फिर देश में हंगामा मचा हुआ है. फिर से देश भर में CAA को लेकर एक बार चर्चा तेज हो रहा है. इससे पहले भी कई बार नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कई बार विवाद देखने को मिला था. इसी बीच कुछ दिन पहले हमारे देश के केंद्रीय मंत्री अमित शाह द्वारा CAA को पूरे देश में लागू करने की मांग की थी. आखिर क्या है CAA ?(what is CAA) CAA लागू होने के बाद क्या होगा ?. आईए जानते हैं बिस्तर में CAA कानून के बारे में.

CCA का फुल फॉर्म  Full Form of CCA 

CCA फुल फॉर्म Citizenship Amendment Act होता है, यानी की नागरिकता संशोधन कानून है.

क्या है CAA ? What is CAA  ?

CAA यानी की नागरिकता संशोधन कानून जो तीन पड़ोसी देशके लोग, (तीन पड़ोसियों देश में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान शामिल है). उन अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता देने का रास्ता है. जो लंबे समय से भारत में शरणार्थी के रूप में रह रहे हैं.चाहे वह भारतीय हो चाहे वह मजहब का हो चाहे वह किसी अन्य धर्म का हो ऐसे लोगों की नागरिकता जिन का कोई प्रावधान नहीं है. आपको बता दे भारत के मुसलमान या किसी भी अन्य धर्म और समुदाय के लोगों की नागरिकता को इस कानून से कोई भी खतरा नहीं होती है. 

CAA को कब पारित किया गया था ?

CAA (Citizenship Amendment Act ) यानी की नागरिकता संशोधन कानून को भारतीय संसद में 11 दिसंबर 2019 को पारित किया गया था. पारित के समय CAA के पक्ष में 125 वोटपड़े थे. और CAA के खिलाफ105 वोट पड़े थे. पारित होने के बाद राष्ट्रपति द्वारा इस विधेयक को 12 दिसंबर को मंजूरी दे दी गई थी. इस विधेयक को मंजूरी मिलने के बाद वर्तमान सरकार ने What is CAA का समर्थन करते हुए ऐतिहासिक कदम भी बताया था.

वहीं विपक्षी लोग तथा मुस्लिम वर्ग के संगठन द्वारा इस विधेयक को लेकर काफी विरोध भी किया गया था. CAA भारतीय संसद में पास होने से पहले CAB था यानीकी  Citizenship Amendment Bill होता है. लेकिन राष्ट्रपति द्वारा इस विधेयक को पास करने के बाद इस विधेयक को बदल के CAA (Citizenship Amendment Act ) कर दिया गया.

CAA लागू होने के बाद किसी से मिलेगी नागरिकता ?

CAA लागू हो जाने के बाद नागरिकता देने का अधिकार पूरी तरह से केंद्र सरकार के पास हो जाएगा. और पाकिस्तान, अफ़गानिस्तान, बांग्लादेश जैसे आए हुए सिख हिंदू बौद्ध जैन पारसी इसी धर्म के शरणार्थियों को सीधे तौर पर केंद्र सरकार द्वारा भारतीय नागरिकता प्रदान की जाएगी.

लेकिन आपको बता दे की 2014 से पहले इन शरणार्थी भारत में आकर बस गएथे उन्हीं को भारतीय नागरिकता मिलेगी. इस कानून के तहत उन शरणार्थियों को अवैध प्रवासी माना गया है जो भारत में अवैध यात्रा दस्तावेज के बिना घुसकर आए हैं या फिर वेद दस्तावेज के साथ भारत तो आ गए हैं लेकिन समय सीमा से अधिक समय तक भारत में ही रुक गए हो. 

CAA कानून के तहत मुस्लिम वर्गों को क्यों नहीं जोड़ा गया ?

भारत के गृहमंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भारतीय संसद में बताया था कि पाकिस्तान बांग्लादेश और अफगानिस्तान एक मुस्लिम राष्ट्र है. उसे मुस्लिम राष्ट्र के लोग धर्म के नाम पर अन्य धर्म के लोगों पर उत्पीड़न करते हैं. जबकि उन देश के हिंदुओं समेत अन्य वर्ग के लोगों को धर्म के आधार पर यातना दिया जाता है. इसलिए इन देशों की CAA मुसलमानों को नागरिकता कानून में शामिल नहीं किया गया है. 

CAA को लेकर क्यों हो रहा है इतना विवाद ?

नागरिकता संशोधन कानून में पाकिस्तान बांग्लादेश और अफगानिस्तान से विभिन्न धर्म के लोग जिसमें मुस्लिम वर्ग को छोड़करअन्य धर्म के लोग जैसे कि हिंदू, जैन, ईसाई, बौद्ध, सिख, पारसी इत्यादि धर्म के लोगों को अवैध अप्रवासियों के लिए भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान बनाया गया है. इस पर विपक्षी तथा मुस्लिम वर्ग के लोगों का कहना है कि यह प्रावधान भेद भाव पूर्ण है क्योंकि इसमें मुसलमान को शामिल नहीं किया गया है जिसके कारण नागरिकता संशोधन कानून विवादों से गिरा हुआ है.

नागरिकता के लिए कैसे आवेदन होगी ?

CAA के तहत नागरिकता पाने का प्रक्रिया पूर्ण रूप से ऑनलाइन की गई है. जिसके लिए एक ऑनलाइन पोर्टल का तैयार किया गया है. भारतीय नागरिकता पाने के लिए उन प्रवासियों को अपना उस साल बताना होगा जिस साल को बिना किसी कागजात के भारत में प्रवेश किया था. इस कानून के अनुसार आवेदक से किसी तरह का कोई कागजात नहीं मांगा जाएगा.

और नागरिकता से जुड़ी जितने भी मामले लंबित है उन सभी को ऑनलाइन ट्रांसफर कर दिया जाएगा. CAA की तहत पात्र  प्रवासियों को सिर्फ ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर अपना आवेदन करना होगा. उसके बाद गृह मंत्रालय आवेदन की जांच पड़ताल करेगी और सारा चीज सही पाने पर उन्हें CAA के तहत भारतीय नागरिकता दी जाएगी.

अब तक क्यों लागू नहीं हुई CAA ?

CAA नागरिकता संशोधन कानून लागू होने को लेकर पूरे देश के कई सारे राज्य में हंगामा मचा हुआ है. कई राज्य में CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की जा रही है जिसके कारण यह कानून लागू नहीं हो पाई है. CAA के खिलाफ हो रही लगातार विरोध प्रदर्शन को देखते हुए केंद्रीय सरकार ने कहा कि जब तक देश में समान नागरिक संहिता लागू नहीं हो जाती है तब तक लैंगिक समानता लागू नहीं हो सकती है. 

निष्कर्ष

इस लेख में हमने जाना What is CAA : जानें क्या है नागरिकता संशोधन कानून,CAA कानून लागू होने से क्या होगा. आशा करता हूं आप लोगों को यह लेकर जरूर पसंद आई हो. यदि किसी तरह का कोई सुझाव या साला है तू हमें नीचे दी गई कमेंट बॉक्स में कमेंट जरुर करें धन्यवाद.

यह भी पढ़ें

FAQs

Q. भारत में सीएए कब लागू हुआ?

A. 11 दिसंबर, 2019

Q. सीएए का मतलब क्या होता है?

A. CAA (Citizenship Amendment Act ) यानी की नागरिकता संशोधन कानून

Q. What is CAA ?

A. Citizenship Amendment Act

Leave a Comment

Welcome to Clickise.com Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes
error: Alert: Content selection is disabled!!
Send this to a friend