महत्वपूर्ण दिवस

विश्व जनसंख्या दिवस पर निबंध 2024 | World Population Day, Theme, Total Population, Slogans, Speech, Essay in Hindi

Pawin

world population day
sara Tendulkar biography hindi

Rate this post

विश्व जनसंख्या दिवस पर निबंध 2024 | World Population Day, Theme, Total Population, Slogans, Speech, Essay in Hindi, world population day in hindi, world population review, विश्व जनसंख्या दिवस 2022 की थीम, विश्व जनसंख्या दिवस क्यों मनाया जाता है,world population day theme 2023,राष्ट्रीय जनसंख्या दिवस,भारतीय जनसंख्या दिवस कब मनाया जाता है,राजस्थान जनसंख्या दिवस कब मनाया जाता है, प्रति 1000 पर कुल जन्मों की संख्या कहलाती है,जनसंख्या विस्फोट से उत्पन्न दो समस्यायें लिखिये,

इस लेख में हम जानेंगे विश्व जनसंख्या दिवस के बारे में,  विश्व जनसंख्या दिवस एक ऐसी दिवस है जो हर साल मनाया जाता है.  विश्व जनसंख्या दिवस हर साल 11 जुलाई को मनाया जाता है.  इस दिवस का उद्देश्य विश्व में बढ़ती हुई जनसंख्या को नियंत्रण में रखने के लिए जागरूकता बढ़ाना है. विश्व जनसंख्या दिवस का मुख्य उद्देश्य दुनिया भर में बढ़ती आबादि  के मुद्दों को ध्यान में रखते हुए जैसे परिवार नियोजन का महत्व,  लैंगिक समानता,  गरीबी पर लोगों की जागरूकता,  मातृ स्वास्थ्य और मानव अधिकार  इत्यादि को बढ़ावा देना है. 

Table of Contents

विश्व जनसंख्या दिवस कब मनाया जाता है ? (When is World Population Day celebrated?)

दुनिया भर में विश्व जनसंख्या दिवस हर साल जुलाई महीना में 11 तारीख को मनाया जाता है. 2023 में दुनिया भर की जनसंख्या के जनगणना को देखा जाए तो 2023 जुलाई में कुल दुनिया भर की जनसंख्या 8,042,908,559  पहुंच गई है. इसमें से सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश  चीन है चीन अकेले देश में कुल 1, 456,172,604 लोगों की जनसंख्या   के साथ पहले स्थान पर है.

और  दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाली  देश में दूसरे नंबर पर भारत है.  जुलाई 2023 तक भारत की कुल जनसंख्या 1,421,830,300  है.  इसी तरह यूनाइटेड स्टेट अमेरिका कूल 336, 919,800 लोगों के साथ तीसरे नंबर पर है. हो सकता है यह आंकड़े थोड़ी पुरानी हो लेकिन इतने ज्यादा भी पुराना नहीं कहा जा सकता है. पूरे दुनिया में हो रही जनसंख्या विस्फोट मध्य नजर रखते हुए वैश्विक स्तर पर जनसंख्या का आकलन करें तो यह कहना गलत नहीं होगा कि विश्व में जनसंख्या नियंत्रण एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है.

महत्वपूर्ण दिवस का नामविश्व जनसंख्या दिवस
मनाए जाने वाली तारीखहर साल 11 जुलाई को
कब से शुरुआत हुईसन 1987 से
साल 2023 में कौन सा है36 वा 

विश्व जनसंख्या दिवस का इतिहास (History of World Population Day)

विश्व जनसंख्या दिवस को 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की गवर्निंग काउंसलिंग द्वारा स्थापना किया गया था. और विश्व जनसंख्या दिवस पहली बार 11 जुलाई 1987 को  मनाया गया था. विश्व जनसंख्या दिवस को 11 जुलाई 1987 को दुनिया भर की कुल जनसंख्या 5 बिलियन लोगों तक  पहुंच गई थी  उसके बाद सार्वजनिक रूप से मनाए जाने  लगा. विश्व जनसंख्या दिवस को  11 जुलाई 1987 को मनाने का सुझाव डॉक्टर के.सी. जकारिया (Dr. K.C.Zachariah) ने दिया था.

उस वक्त जकारिया विश्व बैंक में सीनियर डेमोग्राफर के रूप में काम किया करते थे.  सब पूरे दुनिया का जनसंख्या कुल 5 अरब तक पहुंच गई थी. इसलिए 13 जुलाई 1987 को पहला विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया और उसके साथ लगातार अभी तक मनाया जा रहा है 2023 की हिसाब से माने तो अभी का विश्व जनसंख्या दिवस 36 वा दिवस  है. 1955 के हिसाब से माने तो उस वक्त दुनिया भर के जनसंख्या कुल 2,773,019 ,936 था और 2023 की बात करें तो अभी कुल  8,042,908,559  पहुंच गई है.

जिस हिसाब से दुनिया भर में जनसंख्या वृद्धि  का विस्फोट हो रहा है.  इसी तरह यदि जनसंख्या  मैं वृद्धि होते रहे  तो आने वाले दिन जनसंख्या वृद्धि के कारण होने वाली दुष्प्रभावों की तरफ दुनिया का ध्यान आकर्षण करना  निश्चित है. दुनिया की आबादी लगभग हर 14 महीने में 100 मिलियन से ज्यादा बढ़ जाती है. नवंबर 2020 में यू एन एक्स पीए ने केन्या और डेनमार्क की सरकारों के साथ मिलकर इन अधूरे लक्ष्य को प्राप्त करने के प्रयासों में तेजी लाने के लिए नैरोबी में एक उच्च स्तरीय सम्मेलन बुलाया गया.

  विश्व जनसंख्या दिवस पर दुनियाभर के अधिवक्ता, नेताओं, नीति निर्मातओं, जमीनी स्तर के आयोजकों, संस्थानों और अन्य लोगों से प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकारों को सभी के लिए वास्तविकता बनाने में मदद करने का आह्वान भी किया गया है.

दुनिया भर में वर्तमान प का जनसंख्या (Current world population )

दुनिया भर में वर्तमान में अनुमानित जनसंख्या बढ़ोतरी का विवरण 7 जुलाई 2023 के अनुसार

विवरणजनसंख्या
विश्व का जनसंख्या वर्तमान में8,042,908,559
जन्म दर  1 दिन में289, 854
जन्म दर 1 साल में69,582,458
मृत्यु दर 1 दिन में134, 989
मृत्यु दर 1 साल में34,805,485
जनसंख्या वृद्धि  दर एक दिन में1 34,857
जनसंख्या वृद्धि  दर 1 साल में34,758,452

साथ में आप साफ-साफ देख सकते हैं किस तरह दुनिया में जनसंख्या विस्फोट हो रही है. जिस हिसाब से मृत्यु दर है उसके दोगुना के हिसाब से जन्म दर  है. जिसके कारण दुनिया में 1 साल में 34,758,452  के के हिसाब से जनसंख्या वृद्धि हो रही है.जो एक बहुत ही गंभीर विषय है.  

दुनिया के टॉप 20 सबसे ज्यादा पापुलेशन वाला देश. (Top 20 most populated countries in the world.)

 7 जुलाई 2023 के अनुसार दुनिया के टॉप 20 सबसे ज्यादा पापुलेशन वाला देश का विवरण

S.Nदेशकुल जनसंख्या
1.चीन (China) 1,456,173,401
2.भारत (India)1,421,832,211
3.अमेरिका (USA)336,920,019 
4.इंडोनेशिया (Indonesia )282,459, 186
5.पाकिस्तान (Pakistan )234,482,167
6.नाइजीरिया (Nigeria)222, 582,638
7.ब्राजील (Brazil)217,181 ,949
8.बांग्लादेश(Bangladesh )169,749,581
9.रसिया (Russia)146,122,355
10.मेक्सिको (Mexico)133,116, 917
11.जापान (Japan )125,325,089 
12.इथोपिया (Ethiopia)124,127,907
13.फिलीपींस (Philippines)114,440,066
14.इजिप्ट (Egypt )108,440,068
15.वियतनाम (Vietnam)100,032,287
16.डीआर  कांगो ( D.R. Congo )98, 471,519
17.ईरान (Iran)87,335,309
18.टर्की (Turkey)87,144 ,276
19.जर्मनी (Germany  )84 ,594,599
20.थाईलैंड  (Thailand)70,328,946

1955 से 2020 तक की विश्व जनसंख्या का विवरण (World population details from 1955 to 2020)

वर्ष(1 जुलाई)जनसंख्यावार्षिक %परिवर्तनवार्षिक परिवर्तनमाध्य आयुप्रजनन दरघनत्व (पी/किमी²)
20207,794,798,7391.05 %81,330,63930.92.4752
20197,713,468,1001.08 %82,377,06029.82.5152
20187,631,091,0401.10 %83,232,11529.82.5151
20177,547,858,9251.12 %83,836,87629.82.5151
20167,464,022,0491.14 %84,224,91029.82.5150
20157,379,797,1391.19 %84,594,707302.5250
20106,956,823,6031.24 %82,983,315282.5847
20056,541,907,0271.26 %79,682,641272.6544
20006,143,493,8231.35 %79,856,169262.7841
19955,744,212,9791.52 %83,396,384253.0139
19905,327,231,0611.81 %91,261,864243.4436
19854,870,921,7401.79 %82,583,645233.5933
19804,458,003,5141.79 %75,704,582233.8630
19754,079,480,6061.97 %75,808,712224.4727
19703,700,437,0462.07 %72,170,690224.9325
19653,339,583,5971.93 %60,926,770225.0222
19603,034,949,7481.82 %52,385,962234.9020
19552,773,019,9361.80 %47,317,757234.9719

विश्व जनसंख्या वृद्धि का पूर्वानुमान (2020 -2050) (World Population Growth Forecast (2020 -2050))

वर्ष(1 जुलाई)जनसंख्यावार्षिक %परिवर्तनवार्षिक परिवर्तनमाध्य आयुप्रजनन दरघनत्व (पी/किमी²)
20207,794,798,7391.10 %83,000,320312.4752
20258,184,437,4600.98 %77,927,744322.5455
20308,548,487,4000.87 %72,809,988332.6257
20358,887,524,2130.78 %67,807,363342.7060
20409,198,847,2400.69 %62,264,605352.7762
20459,481,803,2740.61 %56,591,207352.8564
20509,735,033,9900.53 %50,646,143362.9565
20207,794,798,7391.10 %83,000,320312.4752
20258,184,437,4600.98 %77,927,744322.5455
20308,548,487,4000.87 %72,809,988332.6257
20358,887,524,2130.78 %67,807,363342.7060
20409,198,847,2400.69 %62,264,605352.7762
20459,481,803,2740.61 %56,591,207352.8564
20509,735,033,9900.53 %50,646,143362.9565

world population day
world population day

विश्व जनसंख्या दिवस थीम  (world population day theme)

विश्व जनसंख्या दिवस के लिए यूनाइटेड नेशनल द्वारा  हर वर्ष विभिन्न तरह की थीम रखी जाती है.  इस सिम में यूनाइटेड नेशनल द्वारा विश्व जनसंख्या दिवस को ध्यान में रखते हुए विभिन्न तरह का कार्यक्रम आयोजन किया जाता है. हर साल की तरह इस साल के लिए भी थीम बनी हुई है.  लेकिन इस सिम से संबंधित कोई जानकारी घोषणा नहीं हुई है.  पिछले कुछ वर्षों में हुए विश्व जनसंख्या दिवस के  थीम नीचे दी हुई है इसके आधार पर आप अनुमान लगा सकते हैं.

  • 2014 :-  जनसंख्या के रुझान और संबंधित मुद्दों और युवा लोगों में निवेश पर विचार करने का समय। (A Time to reflect on population trends and related issues and investing in young people. )
  • 2015 :- आपात्कालीन स्थितियों में कमज़ोर आबादी.( Vulnerable Populations in Emergencies.)
  • 2016 :- Investing in teenager Girls .
  • 2017 :- किशोर लड़कियों में निवेश.(Family Planning Empowering People, Developing Nations.)
  • 2018:- परिवार नियोजन एक मानव अधिकार है. (Family Planning is a Human Right.) 
  • 2019 :- परिवार नियोजन लोगों को सशक्त बनाकर राष्ट्रों का विकास कर रहा है। (Family Planning Empowering People Developing Nations.)
  • 2020 :-  कोविड-19 की रोकथाम: महिलाओं और लड़कियों के स्वास्थ्य और अधिकारों की रक्षा कैसे करें (Preventing COVID-19: How to protect the health and rights of women and girls.)
  • 2021:-  प्रजनन क्षमता पर कोविड-19 महामारी का प्रभाव (Effects of the COVID-19 pandemic on fertility)
  • 2022 :- 8 अरब की दुनिया: सभी के लिए एक लचीले भविष्य की ओर – अवसरों का दोहन और सभी के लिए अधिकार और विकल्प सुनिश्चित करना.(A world of 8 billion: Towards a resilient future for all – harnessing opportunities and ensuring rights and choices for all)
  • 2023 :- 

विश्व जनसंख्या दिवस का उद्देश्य ( Objective of World Population Day )

घटक तीन दशक से मनाए जाने वाली विश्व जनसंख्या दिवस मुख्य उद्देश्य दुनिया भर में बढ़ रही जन्म दर पर नियंत्रण और जनसंख्या में अनियमितता जैसे विषय को मुख्य बिंदु मेला कर दुनिया को बढ़ती हुई जनसंख्या पर ध्यान केंद्रित करना और  जागरूक करना है.

वर्तमान में विश्व की जनसंख्या 8 अरब से ज्यादा हो चुकी है और यूएन की रिपोर्ट के मुताबिक य आंकड़ा बहुत तेजी से बढ़ते जा रही है और प्रतिवर्ष लगभग 35 करोड़  के डर से लोगों का वृद्धि होते जा रही है. 

यूनाइटेड नेशनल डेवलपमेंट प्रोग्राम की गवर्निंग काउंसलिंग के अनुसार दुनिया में फैली प्रजनन संबंधी समस्याओं की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करना और इसके कारण स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं  बढ़ोतरी साथ ही दुनिया भर में गर्भवती महिलाओं की मृत्यु दर मैं हो रही बढ़ोतरी बहुत बड़ी  समस्या है.  एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में प्रतिदिन लगभग 800 से लेकर 900 महिलाएं बच्चे को जन्म देते समय अपनी जान घुमा रही है. इस सारी समस्याओं को एक उद्देश्य लक्षित करते हुए  हर साल विश्व जनसंख्या दिवस मनाने से लोगों में प्रजनन संबंधी जानकारियों के प्रति जागृता लाई  जा सकती है इसीलिए विश्व जनसंख्या दिवस को दुनिया भर में मनाया जाता है.

विश्व जनसंख्या दिवस पर इवेंट (Events on World Population Day )

विश्व जनसंख्या दिवस  हर साल 11 जुलाई को  पूरे दुनिया भर में मनाया जाता है.  इस दिवस को हर कोई देश अपने अपने तरीके से मनाता है.  ऐसे में भारत की बात किया जाए तो भारत में स्कूलों में विभिन्न तरह का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है जिसमें वाद विवाद,  शैक्षणिक कार्यक्रम,  बढ़ती हुई जनसंख्या को कैसे नियंत्रण किया जाए इस तरह का टॉपिक में मंथन करके विभिन्न कार्यशाला आयोजित करवा कर मनाई जाती है.

विश्व जनसंख्या दिवस कैसे मनाया जाता है. (How is World Population Day celebrated?)

  1. विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर महिलाओं या पुरुषों सभी के बीच समाज के हर वर्ग में जनसंख्या वृद्धि के प्रति जनचेतना  लाई जाने वाली विषय में मंथन करके.
  2. विशेषकर लड़कियों के अधिकारों की रक्षा करना और इसके लिए नए नए कानून बनाना साथ ही विवाह संबंधी जुड़ी जिम्मेदारियों के प्रति सचेत कराना.
  3. जनसंख्या संबंधी आयोजित कार्यक्रम में भाग लेकर लोगों में जनसंख्या और इससे जुड़े विभिन्न समस्या जैसे बढ़ती जनसंख्या जननी और बच्चों का स्वास्थ्य गरीबी मानव अधिकार स्वास्थ्य का अधिकार से सुरक्षा और गर्भनिरोध साधन की प्रयोग जैसे विषय पर जागरूकता लाना.
  4. भारत जैसे कई विकसित देशों में अभी भी बाल विवाह को जाता है जहां कम उम्र में ही गर्भधारण करने से गंभीर समस्याएं  जैसी परेशानी से बचने के लिए बाल विवाह को रोकने के लिए देश और समाज में जागरूकता अभियान चलाकर.
  5. दुनिया में बढ़ रही जनसंख्या को मध्य नजर रखते हुए विश्व जनसंख्या दिवस के के अवसर पर विभिन्न जागरूकता अभियान और कार्यक्रम में शामिल होकर  और देश में बढ़ रही जनसंख्या की समाधान के बारे में जागरूकता फैलाना. 
  6.  इत्यादि तरीका को ध्यान में रखते हुए जनसंख्या दिवस को मनाया जाता है. 

भारत में जनसंख्या वृद्धि का कारण (Causes of population growth in India)

हमारा देश भारत जनसंख्या वृद्धि में दुनिया में दूसरा नंबर पर है.  आपको बता दें कि भारत के जो जनसंख्या है वह पूरे दुनिया में दूसरे नंबर में आता है. और जनसंख्या वृद्धि के मामले में चीन सबसे आगे आता है और दुनिया में सबसे ज्यादा जनसंख्या वाली पहला  नंबर पर चीन आता है. हमारे देश भारत की वर्तमान की जनसंख्या के बारे में बात किया जाए तो 7 जुलाई 2023 के अनुसार भारत की जनसंख्या  कुल 1,421,832,211  हो गई है. 

भारत में इस तरह बढ़ती हुई जनसंख्या का सबसे बड़ी और मुख्य कारण अंधविश्वास और अशिक्षा है. हमारे देश में अभी भी कुछ ऐसे समुदाय और लोग हैं जिनका विचार घर में जितने लोग होंगे उसने ज्यादा कमाई होगी.  इस तरह का अवधारणा वाले लोग मौजूद है. लेकिन किसी माता-पिता की ज्यादा संतान होने से यह संभव नहीं है कि वह आज के समय में सभी को बेहतर शिक्षा और बेहतर सुविधाएं दे पाएगा. यदि किसी के केवल दो संतान है तो उन माता-पिता आप फ्री हो तो संतान का परवरिश अच्छे से कर पाएंगे और अपने बच्चों पर ध्यान ज्यादा दे पाएंगे. 

यदि वही किसी माता पिता के पास  दो से अधिक बच्चे हैं तो स्वाभाविक है कि वह माता-पिता अपने  सारे बच्चों पर बराबर ध्यान नहीं दे पाएंगे जिससे आगे जाकर काफी कठिनाई की सामना करना पड़ सकता है. इसीलिए हमारी देश में जब तक बच्चों को भगवान की देन ना  समझा जाए तू जनसंख्या नियंत्रण करने का तरीका हमारे हाथों में है.  और हम सब मिलकर चाहें तो इस को आसानी से नियंत्रण कर सकते हैं. 

जनसंख्या  वृद्धि पर नियंत्रण कैसे किया जाए. (how to control population growth)

यदि हमारे देश में इसी तरह जनसंख्या वृद्धि होते रहा तो वह दिन दूर नहीं है जिस दिन लोग भुखमरी गरीबी और बेरोजगारी की बहुत बड़ी समस्या झेलनी पड़ सके. जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण कैसे किया जाए ?  यह एक बहुत ही बड़ी समस्या है यह मुमकिन नहीं नामुमकिन है. परंतु फिर भी ऐसे बहुत सारे बातें हैं तरीका है.  यदि हर कोई इस बातें और तरीका में ध्यान दे तो जनसंख्या वृद्धि दर्पण हम ब्रेक लगा सकते हैं. 

हमारे देश में सबसे बड़ी समस्या है बाल विवाह यदि बाल विवाह को रोका जा सके तो निश्चित है कि यह संभव हो सकती है क्योंकि बाल विवाह से छोटी उम्र से ही गर्भ धारण होती है.  जिससे ज्यादा बच्चे साथी मां में भी बहुत बुरा असर पड़ता है.

  • परिवार कल्याण जैसे कार्यक्रम को समझकर या उसमें  समझाई जाने वाली जानकारियों को समझने की कोशिश कर कर.
  • यदि किसी बालिका है जिनका विवाह कम उम्र में हो जाती है तो वह केवल दो बच्चों को ही जन्म दे और उनकी ख्याल रखें.
  • आने वाली पीढ़ी को शिक्षित और नए विचार धाराओं से निपुण.
  • विश्व जनसंख्या दिवस पर नारे.(Slogans on world population day.)
  • विश्व जनसंख्या दिवस को मनाने से जनसंख्या वृद्धि को रोका जा सकता है.
  • विश्व में हो रही जनसंख्या वृद्धि के कारण होने वाली शोषण से  पृथ्वी को  बचाएं.
  • विश्व जनसंख्या दिवस मनाने का मेन उद्देश्य भविष्य में होने वाली भीड़ को करना है.
  • जनसंख्या नियंत्रण के लिए अपने खुद के बच्चे को जन्म देने के जगह पर एक अनाथ बच्चा को गोद  ले.
  • भूखमरी इससे बचने के लिए जनसंख्या विस्फोट पर नियंत्रण कर.
  •  विश्व जनसंख्या दिवस मना कर जनसंख्या वृद्धि के खिलाफ आवाज  उठाएं.
  • जनसंख्या नियंत्रण करना कठिन है लेकिन असंभव भी नहीं है.
  • धरती पर रहने के लिए पर्याप्त जगह के लिए कैंपेन करना या शामिल  होना.

यह भी पढ़ें

विश्व चॉकलेट दिवस पर निबंध

निष्कर्ष

FAQs

Q.विश्व जनसंख्या दिवस कब मनाया जाता है ?

A.  प्रत्येक साल 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है.

 Q.विश्व जनसंख्या दिवस क्या है ?

A. दुनिया भर में बढ़ती जनसंख्या  और इसके दुष्प्रभावों की तरफ दुनिया का ध्यान को आकर्षण करने के लिए विश्वा जनसंख्या दिवस का स्थापना .

Q. विश्व का कुल जनसंख्या कितना है ?

A. 2023 में दुनिया भर की जनसंख्या के जनगणना को देखा जाए तो 2023 जुलाई में कुल दुनिया भर की जनसंख्या 8,042,908,559  पहुंच गई है.

Q. भारत का वर्तमान कुल जनसंख्या कितना है ?

A. 142 करोड़

Q. सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश कौन है ?

A.  चीन

Q. दुनिया में सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले देश में भारत कौन से नंबर में है ?

A.
दुनिया में सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले देश में भारत दूसरे नंबर पर आता है. 

Leave a Comment

Welcome to Clickise.com Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes
error: Alert: Content selection is disabled!!
Send this to a friend